September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा में 5 कोरियाई कंपनियों से खुलेंगे 8700 युवाओं के लिए रोजगार के द्वार, 1154 करोड़ रुपये का निवेश होगा

ग्रेटर नोएडा न सिर्फ डाटा सेंटर का हब बन रहा है, बल्कि कोरियाई इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों के भी गढ़ के रूप में उभर रहा है।

दो और बड़ी कोरियाई कंपनियों ने ग्रेटर नोएडा में उद्योग लगाने को जमीन खरीदी है। अब तक पांच बड़ी कोरियाई कंपनियां यहां करीब 3.51 लाख वर्ग मीटर जमीन खरीद चुकी हैं। इनके प्लांट बहुतत जल्द शुरू हो जाएंगे। इनमें ज्यादातर इलेक्टॉनिक्स क्षेत्र से जुड़ी हैं। इन कंपनियों से करीब 1154 करोड़ रुपये का निवेश होगा और 8706 युवाओं को रोजगार मिल सकेगा।

उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण लगातार प्रयासरत है। सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर उद्योगों को जमीन उपलब्ध कराने के लिए स्कीम निरंतर चलती रहती है। आवेदन के 30 दिन के भीतर उद्योगों के लिए जमीन आवंटित कर दी जाती है, जिससे कि जमीन प्राप्त करने में उनका ज्यादा वक्त जाया न हो। इसी कोशिश की वजह से ग्रेटर नोएडा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में प्रदेश में पहले पायदान पर पहुंच गया है। इसी पहल का नतीजा है कि कोरियाई कंपनियां भी ग्रेटर नोएडा में बड़े पैमाने पर निवेश करने की इच्छुक हैं।

तीन बड़ी कंपनियां यहां पहले ही जमीन ले चुकी हैं। इनमें सैमक्वांग इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स, केएच वैटेक इंडिया और सेनेटेक इंडिया पहले से जमीन लेकर अपनी ईकाई स्थापित कर रही हैं। वहीं, दो और बड़ी कंपनियां ड्रीमटेक और स्टेरिऑन ने भी जमीन खरीदी है। हाल ही में इनको जमीन आवंटित कर दी गई। दोनों कंपनियां सेक्टर ईकोटेक 10 में अपना प्लांट लगाएंगी। करीब 433 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी और 3570 युवाओं को रोजगार देंगी। कुछ और कंपनियों ने भी ग्रेटर नोएडा में जमीन लेने की इच्छुक हैं। सोमवार को कुछ कोरियाई कंपनियों के प्रतिनिधि एसीईओ दीपचंद्र से मिले। अपनी तरफ से सुझाव भी दिए, जिस ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने शीघ्र अमल करने का आश्वासन दिया। इस बैठक में प्राधिकरण के ओएसडी शिव प्रताप शुक्ला, प्रबंधक उद्योग मयंक श्रीवास्तव, वरिष्ठ प्रबंधक कपिल देव सिंह आदि मौजूद रहे।

कंपनी का नाम सेक्टर निवेश रोजगार

सैमक्ववांग इंडिया -ईकोटेक -10 -440 करोड़ -4000

केएच वैटेक इंडिया -ईकोटेक -6 -247 करोड़ -786

सेनेटेक इंडिया -ईकोटेक वन एक्सटेंशन -34 करोड़ -350

ड्रीमटेक इंडिया -ईकोटेक-10 -193 करोड़ -2570

स्टेरिऑन इंडिया -ईकोटेक -10 -240 करोड़ -1000

Translate »