September 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा के इन 124 गांवों में सीवर की समस्या होगी दूर, प्राधिकरण ने तैयार किया खाका

ग्रेटर नोएडा के सभी सेक्टरों की सीवर समस्या दूर करने के बाद प्राधिकरण अब गांवों की सीवर समस्या को और तेजी से हल करने में जुट गया है।

प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा के अधीन सभी 124 गांवों को सीवर लाइन से जोड़ने का खाका तैयार कर लिया है। गांवों के सीवर को एसटीपी तक पहुंचाया जाएगा। इससे गांवों में भी सीवर से जुड़ी समस्या दूर हो जाएगी।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधीन करीब 124 गांव आते हैं। इनमें से कई गांव ऐसे हैं, जहां पर सीवर लाइन तो कई वर्ष पहले डाल दी गई, लेकिन उन्हें एसटीपी (सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट) से नहीं जोड़ा गया। सीवर लाइन ऐसे ही पड़ी थीं। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर सेक्टरों और गांवों में सीवर से जुड़ी समस्याओं को हल करने के लिए 01 अप्रैल 2019 को प्राधिकरण के सीवर सेल का गठन किया गया। प्राधिकरण ने सेक्टरों और गांवों की सीवर समस्या हल करने की मुहिम शुरू की। अधिकांश सेक्टरों की सीवर लाइनें एसटीपी से जुड़ चुकी हैं। स्वच्छ भारत अभियान से जुड़ते हुए प्राधिकरण ने ग्रेटर नोएडा के सभी गांवों को सीवर लाइन से जोड़ने की मुहिम चलाई है। जिन गांवों में लाइनें पूर्व में डाल दी गईं थीं, उनको एसटीपी की मुख्य लाइनों से जोड़ दिया गया, ताकि सीवर एसटीपी तक पहुंच सके।

सीवर लाइन से जुड़ चुके हैं ये गांव

ग्रेटर नोएडा के गांव सुत्याना, कुलेसरा, हल्दौनी, जलपुरा, हबीबपुर, डेरीन चौगानपुर, मलकपुर, लखनावली, बेगमपुर, गुज्जरपुर, मुबारकपुर, नामोली, साकीपुर, रामपुर जागीर, जैतपुर, जुनपत, ब्रह्मपुर, तुगलपुर, रोहिल्लापुर, बिरौंडा, बिरौंडी, एच्छर, मथुरापुर, घोड़ी बछेड़ा, चुहड़पुर, कासना, डाढ़ा, डाबरा, रामपुर फतेहपुर, लुक्सर, इमिलियाका, सिरसा, खानपुर, सूरजपुर, रायपुर बांगर, बादलपुर, नटों की मड़ैया, बल्ला की मड़ैया व कयामपुर एसटीपी से जुड़ चुके हैं।

ये गांव सीवर लाइन से जुड़ेंगे

ग्रेटर नोएडा के गांव ढुंढेरा, चिपियाना बुजुर्ग, चिपियाना खुर्द, हैबतपुर, युसुफपुर, इटैड़ा, छपरौला, रोजा याकूबपुर, अच्छेजा, सादोपुर, सादुल्लापुर, मिलक लच्छी, पतवारी, बिसरख जलालपुर, वैदपुरा, खैरपुर गुर्जर, ऐमनाबाद, खेड़ा चौगानपुर, तुस्याना, भोला रावल, सैनी, सुनपुरा, धूम मानिकपुर, खेड़ी भनौता, रूपवास, किराचपुर, खोदना कला, खोदना खुर्द, तिलपता, देवला, गुलिस्तानपुर, पल्ली, पल्ला, थापखेड़ा, चमरौली, मकौड़ा, मायचा, लड़पुरा, घंघोला, चिरसी, हजरतपुर, पचायतन, कुलीपुरा, रघुनाथपुर, रौनी, गिरधरपुर, खेरली, देवटा, आजमपुर गढ़ी, अतरौली, बिलासपुर, रामपुर माजरा, दलेलगढ़, तालड़ा, जुनैदपुर, चचूला, कनारसी, हतेवा, नवादा, नानकपुर, अमरपुर, दादूपुर, बागपुर, पीपलका, बिसाइच, पौव्वारी, अटाई मुरादपुर, अमीनाबाद, सलेमपुर, मुरशदपुर, घरबरा, सफीपुर, अजायबपुर, रिठौरी, बोड़ाकी, जौनसमाना, मायचा की मड़ैया, मवई, आमका, स्वराजपुर व भोला रावल गांव को सीवर लाइन से जोड़ने का प्लान तयार किया गया है।

टैंकर की सुविधा भी दे रहा प्राधिकरण

ग्रेटर नोएडा के अधीन जो गांव अभी तक सीवर लाइन से नही ंजुड़े हैं, उनके लिए प्राधिकरण ने टैंकर की सुविधा शुरू की है। ग्रामीण ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के हेल्पलाइन नंबर 0120-2336046, 47 48 व 49 पर कॉल कर इसका लाभ ले सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल नंबर 8800203912 पर व्हाट्स एप मैसेज भी कर सकते हैं।

गांवों के आसपास बनाए डिस्पोजल प्वाइंट्स

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने गांवों के आसपास डिस्पोजल प्वाइंट्स बना दिए हैं। ये डिस्पोजल प्वाइंट्स एसटीपी की मुख्य लाइनों से जुड़ी हुई हैं। जिन गांवों में सीवर की निकासी नहीं है, वहां टैंकर से सीवेज को लाकर इन डिस्पोजल प्वाइंट्स में डाल दिए जाते हैं। यहां से सीवेज एसटीपी तक पहुंच जाता है और वहां शोधित हो जाता है। ये डिस्पोजल प्वाइंट्स चौगानपुर गोलचक्कर, सेक्टर ईकोटेक थ्री के कच्ची सड़क के पास, दुर्गा टाकीज रोटरी के पास, मोजरबेयर रोटरी के पास, हनुमान मंदिर सेक्टर एक, चार मूर्ति गोलचक्कर सेक्टर चार, सेक्टर पी थ्री गोलचक्कर, कासना 137 एमएलडी के पास, सेक्टर ज्यू थ्री आईआईटीजीएनएल के पास, बैनेट विवि, ईकोटेक-7. ओप्पो कंपनी के पास, सेक्टर ओमीक्रॉन वन में गौड़ अतुल्यम के पास, सैनी रोटरी, तिलपता रोटरी, एक मूर्ति गोलचक्कर और बालक इंटर कॉलेज के पास बने हैं। इनको अशोधित सीवर को शोधित करने के लिए बनाया गया।

Translate »