July 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘पर्याप्त वैक्सीन न होने पर डोज़ के अंतराल को बढ़ाना सही’, कोविशील्ड पर बोले अमेरीकी चिकित्सा सलाहकार डॉ. फ़ाउची

बिगड़ते हालात और टिकाकरण

भारत में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामले और मौतें थमने का नाम नहीं ले रहीं। रोज़ाना आने वाले नए मामलों की संख्या अब भी साढ़े तीन लाख के ऊपर बरक़रार है। इस संकट से पार पाने के लिए टिकाकरण पर ज़ोर दिया जा रहा है। देश में अलग-अलग कंपनियों को टीके का उत्पादन बढ़ाने के लिए काम में लिया जा रहा है, हालाँकि इसके बावजूद कोई ख़ास परिवर्तन दिखाई नहीं दे रहा है।

क्या है डॉ. फ़ाउची का मत?

इन सबके बीच व्हाइट हाउस के मुख्य चिकित्सा सलाहकार डॉक्टर अन्थोनी फ़ाउची ने एएनआई को दिए गए एक इंटरव्यू में कहा, “भारत में कोरोना संकट को ख़त्म करने के लिए COVID-19 टीकाकरण में तेज़ी लाना ज़रूरी है और कोविशील्ड (Covishield) की दो खुराकों के बीच अंतराल बढ़ाना एक ‘उचित दृष्टिकोण’ है।”

Credit- Boston.com

फ़ाउची जोकी अमेरिका के शीर्ष हेल्थ एक्सपर्ट हैं, ने कहा, “जब आप बहुत ज़्यादा मुश्किल दौर में होते हैं, जैसा कि भारत में हैं, आपको ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को टीका लगाने की कोशिश करनी होती है। इसलिए मेरा मानना है कि यह एक उचित नज़रिया है।”  

 

 तीन महीने में दूसरी बार डोज़ में बढ़ाया गया अंतराल

बता दें कि भारत सरकार ने कोविशील्ड टीके की दो डोज़ लगवाने के अंतराल को 6-8 सप्ताह से बढ़ाकर 12-16 सप्ताह करने का फ़ैसला किया है। यह तीन महीने में दूसरी बार है जब कोविशील्ड वैक्सीन की खुराक के बीच के अंतराल में परिवर्तन किया गया है। इसके चलते एक बार फिर सरकार के इस क़दम की आलोचना हो रही है।

हालांकि डॉक्टर फ़ाउची ने इसपर कहा, “वैक्सीन की 2 डोज़ के बीच के अंतर को बढ़ाना प्रभावकारिता के दृष्टिकोण से भी फ़ायदेमंद होगा।” 

Credit- CNBC

उन्होंने आगे कहा, “तथ्य यह है कि अगर आप लंबे समय तक देरी करते हैं तो इस बात की संभावना बहुत कम है कि यह वैक्सीन की प्रभावकारिता पर नकारात्मक असर डालेगा। मैं इसे एक कवर के रूप में संदर्भित नहीं करूंगा, जब आपके पास पर्याप्त टीके नहीं हैं।”

Translate »