September 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘भारत एक समृद्ध और शांतिपूर्ण अफ़ग़ानिस्तान चाहता है’ – अरिंदम बागची

अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान के क़ब्ज़े के बाद से देश में अराजकता और अस्थिरता जारी है। इस बीच शुक्रवार को भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इस महीने की शुरुआत में तालिबान द्वारा आगाह किए गए देश की स्थिति पर प्रश्नों को संबोधित करते हुए कहा, भारत एक समृद्ध और शांतिपूर्ण अफ़ग़ानिस्तान चाहता है और काबुल में सुरक्षा ख़तरे के बीच निकासी जारी है।

 

 

बागची ने कहा कि भारत ने काबुल के माध्यम से छह उड़ानों में 550 से अधिक लोगों को अफ़ग़ानिस्तान से बाहर निकाला है जिसमें 260 भारतीय (दूतावास और अन्य कर्मियों सहित) शामिल थे, और बाकी अफ़ग़ान और अन्य अधिकारी थे। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार, भारत सरकार अन्य एजेंसियों के साथ भी निकासी पर समन्वय कर रही थी, और इस मामले पर विभिन्न पक्षों के संपर्क में थी।

अफ़ग़ानिस्तान से लोगों को निकालने के लिए छोड़े गए लोगों के बारे में पूछे जाने पर, बागची ने कहा कि जिन भारतीयों ने वापस आने की मांग की है उन्हें जल्द ही वापस लाया जाएगा।

यह पूछे जाने पर कि क्या भारत में लाए जा रहे अफ़ग़ान नागरिकों को ‘शरणार्थी’ का दर्जा दिया जाएगा, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें अभी आपातकालीन वीजा-आधार पर रखा जा रहा है, जो छह महीने के लिए वैध है। उन्होंने कहा कि इसकी अवधि ख़त्म होने के बाद स्तिथि का आंकलन किया जाएगा।

अफ़ग़ानिस्तान में सरकार गठन पर बात करते हुए अनिश्चिता का इशारा करते हुए बागची ने कहा कि “हमारी प्रमुख चिंता नागरिकों की सुरक्षा और सुरक्षा है। अभी, अफ़ग़ानिस्तान में सरकार के गठन के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है।”

अफ़ग़ान संकट के बीच संबंधित हितधारकों के साथ चर्चा पर बागची ने कहा कि इंडो-पैसिफ़िक क्वाड ग्रुपिंग भारत के लिए महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर के बीच बातचीत में जिस चैनल के बारे में बात की गई थी, उसके माध्यम से अफ़ग़ानिस्तान की स्थिति पर रूस के साथ नियमित परामर्श जारी है।

Translate »