September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

Tokyo Olympic 2020 : भारतीय महिला हॉकी टीम कांस्य पदक से चूकी, ब्रिटेन ने 4-3 से हराया

टोक्यो ओलंपिक में भारत की महिला हॉकी टीम कांस्य पदक जीतने का सपना टूट गया है। ब्रिटेन ने भारत महिला हॉकी टीम को 4-3 से हराया।

कांस्य पदक मुक़ाबले में भारत ने ब्रिटेन को कड़ी टक्कर दी लेकिन आखिरी क्वार्टर में ब्रिटेन को मिले पेनाल्टी कार्नर ने ब्रिटेन को जीत की दहलीज तक ले गया। भारतीय महिला हॉकी टीम कांस्य पदक से ज़रूर चूक गईं लेकिन सेमीफाइनल में पहुंच कर इतिहास रचा।

पहला क्वार्टर गोल रहित

पहले क्वार्टर में दोनों टीमों ने आक्रमके खेल दिखाया।
ग्रेट ब्रिटेन को मैच के दूसरे मिनट में ही पेनल्टी कॉर्नर हासिल किया लेकिन भारत ने शानदार बचाव किया। ब्रिटेन को 10वें मिनट में फिर पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन भारत की गोलकीपर सविता पूनिया ने शानदार बचाव किया।

ब्रिटेन की शानदार शुरुआत

ब्रिटेन ने दूसरे क्वार्टर में शानदार शुरुआत की और मैच के 16वें मिनट में पहला गोल किया। यह गोल एली रेयर ने किया है। बता दें ये गोल भारतीय डिफेंडर दीप ग्रेस इक्का की स्टिक से लगकर गेंद भारतीय गोल पोस्ट में चली गई और भारत 0-1 से पिछड़ गया। ब्रिटेन ने दूसरा गोल भी दूसरे क्वार्टर में किया। सराह रोबेर्टसन ने 24वें मिनट में गोल किया है और 2-0 से आगे हो गया।

दूसरे क्वार्टर में भारत की शानदार वापसी

गुरजीत कौर ने टीम इंडिया की धमाकेदार वापसी कराई और शानदार गोल किए। गुरजीत ने दोनों गोल 2 मिनट के अंदर पेनल्टी कॉर्नर के जरिए किए। उन्होंने पहला गोल 25वें मिनट और दूसरा गोल 26वें मिनट में किया। इस गोल के साथ भारत ने ब्रिटेन की बराबरी कर ली और स्कोर 2-2 से बराबर हो गया। टीम के लिए तीसरा गोल वंदना कटारिया ने किया। उन्होंने 29वें मिनट में ये गोल दागा और इंडिया को 3-2 से बढ़त बनाई। भारत की ओर से तीनों गोल 4 मिनट के अंदर आए।

ब्रिटेन ने पेनल्टी कार्नर के जरिये 35वें मिनट में गोल कर टीम को बराबरी दिलाई। ये गोल ब्रिटेन की वेब ने किया और स्कोर 3-3 हो गया।

आखिरी क्वार्टर रहा ब्रिटेन के नाम

तीसरे क्वार्टर के बाद चौथे क्वार्टर में भी ब्रिटेन भारत पर हावी रही और 48वें मिनट में गोल किया बढ़त हासिल की। यह बढ़त आखिरी तक बनी रही और ब्रिटेन ने भारत को 4-3 से हराकर कांस्य पदक अपने नाम किया।

Translate »