September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ENG vs IND : लॉर्ड्स पर भारत की ऐतिहासिक जीत, इंग्लैंड को 151 रनों से हराया

भारत ने लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट में 151 रनों से हराकर इतिहास रच दिया है। भारत ने 5 टेस्ट की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है।

 

जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी की 89 रन की शानदार नाबाद साझेदारी की बदौलत भारत ने 272 रन का टारगेट दिया था। जवाब में लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम 120 रन पर सिमट गई। लोकेश राहुल ने पहली पारी में 129 रन बनाए थे। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड मिला।

भारत के लिए दूसरी पारी में मोहम्मद सिराज ने 4 विकेट तो वहीं बुमराह को 3, इशांत को 2 और शमी को 1 विकेट मिला। भारतीय पेस बॉलर्स ने दोनों पारी मिलाकर कुल 19 विकेट लिए थे। इंग्लैंड के लिए कप्तान जो रुट ने सर्वाधिक 33 रनों के योगदान दिया।

 

2014 के बाद मिली लॉर्ड्स में जीत

लॉर्ड्स में भारत ने इंग्लैंड के खिलाफ 19 टेस्टखेले हैं जिनमें 12 इंग्लैंड ने जीते और 3 टेस्ट में भारत को जीत मिली तो वहीं4 टेस्ट ड्रॉ रहे। इंग्लैंड ने 2018 में खेले गए पिछले मैच में भारत को पारी और 159 रन से हराया था। टीम इंडिया ने इससे पहले लॉर्ड्स में 2014 में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जीत हासिल की थी। उस मैच में भारत ने इंग्लैंड को 95 रन से हराया था।

स्कोर कार्ड :

टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया की पारी 364 रनों पर सिमट गई। लोकेश राहुल ने सबसे ज्यादा 129 रन बनाए। वहीं रोहित शर्मा ने 83 रन, विराट कोहली ने 42 रन और रवींद्र जडेजा ने 40 रन बनाए। इंग्लैंड की तरफ से जेम्स एंडरसन ने सर्वाधिक 5 विकेट लिए।

रुट ने जमाया 22वां शतक

पहली पारी खेलने उतरी इंग्लैंड ने 391 रन बनाये और
टीम 27 रनों की लीड लेने में सफल रही थी। मेजबान टीम के लिए कप्तान जो रूट ने नाबाद 180 रनों की शानदार पारी खेली थी। रूट के टेस्ट करियर का यह 22वां और भारत के खिलाफ छठा शतक रहा। भारत के लिए मोहम्मज सिराज चार विकेट लेने में सफल रहे।

लड़खड़ाती टीम को पुजारा रहाणे ने संभाला

दूसरी पारी खेलने उतरी भारतीय टीम ने आठ विकेट खोकर 298 रन बनाकर अपनी पारी घोषित कर दी। कप्तान कोहली लॉर्ड्स पर पारी घोषित करने वाले पहले भारतीय कप्तान बने। दूसरी पारी के दौरान एक समय टीम का स्कोर 55/3 था। टीम की लड़खड़ाती पारी को संभालने का काम चेतेश्वर पुजारा और उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे ने किया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए 100 रन जोड़े। पुजारा ने 45 और रहाणे ने 61 रनों की शानदार पारियां खेलीं।

बुमराह और शमी ने रखी जीत की नींव

मैच जीतने की नींव शमी और बुमराह की बैटिंग रही। दोनों ने शानदार बैटिंग कर 9वें विकेट के लिए 89 रन की नाबाद साझेदारी की। शमी ने सिक्स लगाकर फिफ्टी पूरी की। 106वें ओवर में मोइन अली की बॉल पर शमी ने 92 मीटर लंबा छक्का लगाया। वे इस टेस्ट में 56 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं बुमराह ने भी 36 रन बनाए। पहली बार ऐसा हुआ, जब एंडरसन भारत के खिलाफ लॉर्ड्स पर पारी में विकेट नहीं ले सके।

You may have missed

Translate »