October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

चन्नी से मुलाक़ात के बाद क्या पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर बने रहेंगे सिद्धू?

नवजोत सिंह सिद्धू और पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के बीच बैठक के बाद, यह बताया गया कि सिद्धू के पंजाब कांग्रेस के प्रमुख के रूप में अपने पद पर बने रहने की संभावना है, जबकि सिद्धू द्वारा उठाए गए मुद्दों को अक्टूबर में कैबिनेट के समक्ष रखा जाएगा।

 

 

हालांकि, नवजोत सिद्धू ने जो मुद्दे उठाए हैं उनमें से कई केवल कैबिनेट नियुक्ति से संबंधित हैं। कैबिनेट बैठक की तारीख के अलावा बैठक में नवजोत सिंह सिद्धू और चन्नी के बीच क्या हुआ, इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है।

गुरुवार को दोपहर 3 बजे सिद्धू-चन्नी की बैठक दोनों नेताओं के बीच समस्याओं के समाधान करने की ओर इशारा कर रही है। हालांकि बैठक से ठीक पहले सिद्धू ने डीजीपी इकबाल प्रीत सिंह सहोता की नियुक्ति पर अपनी आपत्ति जताई।

बता दें कि मंगलवार को सिद्धू ने पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष पद से यह कहते हुए इस्तीफ़ा दे दिया था कि वह पंजाब के भविष्य से समझौता नहीं कर पाएंगे। एक वीडियो में उन्होंने यह भी कहा कि उनके लिए राजनीति, पंजाब के लिए लोगों के लिए स्टैंड लेने के लिए है, न कि अपने फ़ायदे के लिए।

 

चन्नी की ओर से खुले हैं रास्ते?

इस इस्तीफ़े ने ज़ाहिर तौर पर कांग्रेस नेतृत्व को झटका दिया क्योंकि उन्होंने कांग्रेस के किसी भी वरिष्ठ नेता के साथ इस मुद्दे पर चर्चा नहीं की। यह इस्तीफ़ा स्वीकार भी नहीं किया गया था।

इस बैठक की बाबत चरणजीत सिंह चन्नी ने बुधवार को कहा कि उन्होंने व्यक्तिगत रूप से सिद्धू को बैठक के लिए बुलाया था।

ऐसे समय में संकट को कम करते हुए जब उनका मंत्रिमंडल, जिसके पास चुनाव से पहले काम करने के लिए केवल कुछ महीने हैं, चन्नी ने कहा, “पार्टी सर्वोच्च है। सरकार पार्टी की ज़रूरत पर ध्यान देती है।” चन्नी ने यह भी कहा कि वह नियुक्तियों को लेकर सख्त नहीं हैं और अगर सिद्धू को कोई आपत्ति है तो इस पर चर्चा की जा सकती है।

Translate »