January 21, 2022

MotherlandPost

Truth Always Wins!

देश-विदेश: पाकिस्तान की नई नीति में पड़ोसी देशों से बेहतर रिश्ते का इशारा क्या भारत की ओर है?

पाकिस्तान ने अगले पांच वर्षों के लिए 110 पन्नों की एक राष्ट्रीय सुरक्षा नीति जारी की, जिसमें से केवल 50 पन्ने ही सार्वजनिक किए गए हैं।

 

Credit- Reuters

 

दस्तावेज़ जारी करते हुए, पाकिस्तान के गंभीर संकट के मद्देनज़र प्रधानमंत्री इमरान खान ने आर्थिक नीति की केंद्रीयता पर ज़ोर दिया। इमरान खान ने कहा कि उनके पूर्ववर्तियों ने सैन्य सुरक्षा पर अधिक ज़ोर दिया और आर्थिक सुरक्षा को राष्ट्रीय सुरक्षा का मूल बनाने की आवश्यकता को कभी नहीं समझा।

पाकिस्तान में मध्यम और मज़दूर वर्ग को प्रभावित करने वाली रनअवे इन्फ्लेशन के संदर्भ में, इमरान ने कहा कि अमीर और अधिक अमीर बनते रहे और दलित वर्ग को आर्थिक मंदी से बचाने के लिए कोई उपाय नहीं किया गया तो देश हमेशा असुरक्षित ही रहेगा।

पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार मोईद युसूफ़ ने एनएसपी की बुनियादी संरचना की व्याख्या करते हुए कहा कि इसमें आर्थिक सुरक्षा और भू-अर्थशास्त्र पर ज़्यादा ज़ोर दिया गया है, जो हाल के दिनों में पाकिस्तान की सेना द्वारा काफ़ी बाधित किया गया है।

दिलचस्प है कि अपने वक्तव्य के दौरान इमरान खान ने कहा कि एनएसपी का लक्ष्य पड़ोसियों और पड़ोस में शांति स्थापित करना होगा। अब अगर इन्हें साथ रखकर देखा जाए
तो इन दो बयानों से यह संकेत मिलता है कि पाकिस्तान भारत के साथ भूमि पारगमन और अन्य अनसुलझे मुद्दों पर बातचीत के लिए अधिक सक्षम होगा।

लेकिन चीन के संबंध में पाकिस्तान की नीति के साथ उसके तीन अन्य पड़ोसियों – भारत, ईरान और अफ़ग़ानिस्तान के साथ रिश्ते कैसे होंगे ये तो उन 60 पन्नों में छुपा हुआ है जिसे अबतक इमरान सरकार ने सार्वजनिक नहीं किया है।

Translate »