Sunday, August 7, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

ओलंपिक खेलों पर जापान सरकार की नीति, दर्शकों के बिना होगा आयोजन

by Disha
0 comment

ओलंपिक खेलों के विवादित आयोजन को लेकर अब जापान सरकार ने अपनी रणनीति साफ़ कर दी है। आयोजकों ने बीते दिन कहा कि मेज़बान शहर टोक्यो में दर्शकों के बिना ओलंपिक होगा। कोरोनवायरस के बढ़ते मामलों के चलते जापान की सरकार राजधानी में आपातकाल की स्थिति घोषित करने के लिए बाध्य हुई जो अब ओलंपिक खेलों के दौरान जारी रहेगा।

 

Credit- Reuters

 

हालांकि यह बदलाव अचानक किया गया है जिससे कुछ ही दिनों पहले आयोजकों के कहना था कि वे कम दर्शकों के साथ ओलंपिक आयोजित करेंगे।

प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने कहा कि टोक्यो में तेज़ी से कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट के मामले दर्ज किए जा रहे थे जिसके मद्देनज़र ये क़दम उठाना ज़रूरी था ताकि इस संक्रमण की एक और लहर से बचा जा सके।

सरकार ने कहा है कि टोक्यो महानगरीय क्षेत्र के बाहर के स्थानों से कम संख्या में दर्शकों को अनुमति देंगे, और पैरालिंपिक के लिए नीति अगले महीने तय की जाएगी।

 

Credit- Reuters

 

टोक्यो 2020 के अध्यक्ष सीको हाशिमोतो ने सरकारी अधिकारियों, टोक्यो आयोजकों और ओलंपिक और पैरालंपिक प्रतिनिधियों के बीच बातचीत के बाद कहा, “यह खेदजनक है कि कोरोनोवायरस संक्रमण के प्रसार का सामना करते हुए हम खेलों का प्रारूप बहुत सीमित कर रहे हैं।”
“मुझे टिकट खरीदने वालों के लिए खेद है।”

 

चिकित्सकों की चेतावनी

पिछले एक दशक में विनाशकारी भूकंप, सुनामी और परमाणु आपदा के बाद जापान के लिए वैश्विक मंच पर ख़ुद को साबित करने के अवसर के रूप में देखे जाने के बाद खेलों को पिछले साल महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया था, और अब बड़े पैमाने पर इसके बजट में वृद्धि हुई है।

जापान की अधिकांश आबादी को अभी भी COVID-19 टीका नहीं लग सका है, जिससे डर है कि हज़ारों एथलीटों और अधिकारियों की आमद अधिक संक्रमण को बढ़ावा देगी।

 

Credit- Reuters

 

चिकित्सा विशेषज्ञों कई हफ़्तों से कह रहे हैं कि दर्शकों के बिना खेलों को आयोजित करना, इस आयोजन का मंचन को सबसे कम जोखिम भरा बनाएगा।

टोक्यो 2020 के सीईओ तोशीरो मुतो ने स्टाफ़ को और कम करने के बारे में विचार करने की बात के साथ कहा कि आयोजकों को अब भी अनिश्चितता है कि दर्शकों की अनुपस्थिति के कारण राजस्व का कितना नुक़सान होगा।

इस बार के ओलंपिक खेलों में मशाल रिले को कम कर दिया गया है, सार्वजनिक सड़कों से हटा दिया गया है, और प्रचार कार्यक्रम भी गिरा दिए गए हैं। इसके चलते अबतक टोक्यो को कि इन खेलों के कारण पर्यटन का के केंद्र बना रहता था अब किसी भी तरह से उत्साहित नज़र नहीं आ रहा है।

प्रधानमंत्री सुगा ने एक समाचार सम्मेलन में कहा कि डेल्टा वैरिएंट के कारण टोक्यो में COVID-19 संक्रमण बढ़ रहा था और यह देश के बाकी हिस्सों को प्रभावित कर सकता है। “हमें पूरी तरह से संक्रमण के एक और प्रसार के लिए टोक्यो को फिर से शुरुआती बिंदु होने से बचाना चाहिए।”

About Post Author