November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

चीन की बढ़ती सैन्य ताक़त से पश्चिम के माथे पर शिकन, तनाव के बीच जो बाइडन कर सकते हैं शी जिनपिंग से मुलाक़ात

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने सूत्रों के हवाले से बताया कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के अपने चीनी समकक्ष शी जिनपिंग से अगले हफ़्ते मिलने की संभावना है।

 

Joe Biden/reuters

 

हालांकि, न तो व्हाइट हाउस और न ही वाशिंगटन में चीनी दूतावास ने इस बात की पुष्टि की है कि बैठक होगी या नहीं। इस हफ़्ते की शुरुआत में, व्हाइट हाउस की प्रवक्ता काराइन जीन-पियरे ने दोहराया था कि “साल ख़त्म होने से पहले” एक आभासी बैठक के लिए “सैद्धांतिक रूप से एक समझौता” हुआ है।

ब्लूमबर्ग ने पियरे के हवाले से लिखा, “यह हमारे, देशों के बीच प्रतिस्पर्धा को ज़िम्मेदारी से मैनेज करने के हमारे चल रहे प्रयासों का हिस्सा है।”

 

Joe Bisen and Xi Jumping/Reuters

 

ताइवान को लेकर दोनों देशों के बीच बढ़ते तनाव के बीच दुनिया के दो आर्थिक दिग्गजों के नेताओं के बीच बातचीत को लेकर चर्चा तेज़ हो गई है।

 

अपनी परमाणु शक्ति तेज़ी से बढ़ा रहा है चीन

Xi Jinping/ Reuters

वाशिंगटन ने बीजिंग के परमाणु हथियारों में बड़े पैमाने पर विस्तार की सूचना पर भी चिंता जताई है। पिछले हफ़्ते जारी पेंटागन की एक रिपोर्ट के अनुसार, चीन अमेरिकी अधिकारियों की तुलना में अपने परमाणु बल का विस्तार बहुत तेज़ी से कर रहा है।

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीनी परमाणु हथियारों की संख्या 6 साल के भीतर बढ़कर 700 हो सकती है और 2030 तक 1,000 से ऊपर हो सकती है।

रिपोर्ट में यह नहीं बताया गया है कि चीन के पास आज कितने हथियार हैं, लेकिन एक साल पहले पेंटागन ने कहा था कि यह संख्या ‘कम से कम 200’ थी और इस दशक के अंत तक इसके दोगुने होने की आशंका है।

तुलनात्मक रूप से संयुक्त राज्य अमेरिका के पास 3,750 परमाणु हथियार हैं और फ़िलहाल उसकी इन्हें बढ़ाने की कोई योजना नहीं है। अमेरिकी रक्षा अधिकारियों ने कहा है कि वे ताइवान की स्थिति के संबंध में चीन के इरादों को लेकर चिंतित हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है, “पीएलए की विकसित क्षमताएं और अवधारणाएं मज़बूत दुश्मन के ख़िलाफ़ युद्ध लड़ने और जीतने की (चीन की) क्षमता को मज़बूत करना जारी रख रही है।”

Translate »