May 13, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

जानिए कौन हैं नये सहकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले?

बेंगलुरु में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा में कार्यकारी में बड़ा बदलाव हुआ है जहाँ पिछली चार बार से सहकार्यवाह रहे भैया जी जोशी के स्थान पर अब दत्तात्रेय होसबोले को यह इस पद का कार्यभार सौंपा गया है।
यह पद बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि यह संघ का दूसरा सबसे अहम पद है जिसमें संघ को चलाने की पूरी ज़िम्मेदारी अब दत्तात्रेय की ही होगी और संघ के प्रमुख की भूमिका एक सलाहकार की रहेगी। बता दें कि दत्तात्रेय का यह कार्यकाल तीन वर्षों का रहेगा।
File Photo
कौन हैं दत्तात्रेय होसबोले?
कर्नाटक के शिमोगा ज़िले में जन्में दत्तात्रेय अंग्रेज़ी विषय में एम.ए की पढ़ाई की है। इन्होंने 1968 में तेरह वर्ष की आयु में ही संघ के स्वयंसेवक पद पर कार्य करना शुरू कर दिया था। इसके साथ ही 1972 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े और 15 वर्षों तक उसके संगठन मन्त्री भी रहे।
दत्तात्रेय ने जेपी आंदोलन में भी अपनी अहम भूमिका निभाई थी। सन् 1975 से 1977 के इस आंदोलन में पौने दो वर्ष तक ‘मीसा’ के अंतर्गत वे जेल गए थे। इसी दौरान उन्होंने दो पत्रिकाओं का संपादन भी किया। दत्तात्रेय संघ का अटूट हिस्सा रहे और पूर्व के भूभाग से लेकर पश्चिम तक उन्होंने सक्रियता से अपना काम किया।
दत्तात्रेय 2004 में संघ के अखिल भारतीय सह-बौद्धिक प्रमुख के पद पर कार्य करने लगे। वर्ष 2008 में इनका पद बदला और तभी से वे संघ के सह-सरकार्यवाह के पद पर आसीन थे।
राजनीतिक हलकों में अब चर्चा का विषय ये भी है कि 2024 के आगामी चुनावों में दक्षिण से भाजपा का पक्ष मज़बूत करने के लिए दत्तात्रेय होसबोले को यह अहम पद दिया गया है।
Translate »