महाराष्ट्र में बड़ा दर्दनाक हादसा, जिला अस्पताल में लगी आग, 10 नवजात शिशु की मौत

महाराष्ट्र में बीती रात को एक दर्दनाक हादसा हुआ है। महाराष्ट्र के भंडारा इलाके में स्थित एक सरकारी अस्पताल में आग लग गई। जिसमें 10 बच्चों की मौत हो गई है। इस मामले के बाद महाराष्ट्र मुख्यमंत्री ने दुख व्यक्त करते हुए जांच के आदेश दिए हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र के भंडारा जिले में स्थित एक हॉस्पिटल के नवजात बच्चों के आईसीयू में अचानक आग लग गई। अस्पताल की एक नर्स शुक्रवार की देर रात को करीब 1:30 बजे शिशु के आईसीयू में पहुंची। नर्स का कहना है कि, जैसे ही उसने शिशु आईसीयू रूम का दरवाजा खोला तो उसमें से धुआं निकलने लगा। उसने तुरंत अस्पताल के अन्य डॉक्टरों और कर्मचारियों को बच्चों की जान बचाने के लिए आवाज लगाई।

नर्स की चीख पुकार सुनते ही अस्पताल के अन्य कर्मचारी और डॉक्टर मौके पर पहुंचे तो शिशु वार्ड रूम में आग लगी हुई थी। अस्पताल प्रशासन ने तुरंत पुलिस और दमकल विभाग को सूचित किया। दमकल विभाग ने मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पाया है। अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि इस हादसे में शिशु वार्ड में मौजूद 10 बच्चों की मौत हो गई है। वही 7 बच्चों को बचाया जा चुका है। इस शिशु आईसीयू रूम में कुल 17 बच्चे मौजूद थे।

अस्पताल के एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि, इस रूम में 1 दिन से लेकर 3 महीने तक के बच्चे मौजूद थे। शिशु को पैदा होने पर अनेक समस्याएं होती हैं। जिसके लिए ऑक्सीजन की महत्वपूर्ण आवश्यकता होती है। ऑक्सीजन की जरूरत वाले बच्चों को ही इस रूम में रखा गया था। बताया जा रहा है कि शिशु आईसीयू रूम में आग लगने का कारण शार्ट सर्किट है। इस मामले में महाराष्ट्र मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने जिलाधिकारी और पुलिस अधिकारियों से बड़े स्तर पर जांच का आदेश दिया है। वहीं घटना की सूचना मिलने पर शिशु की माता-पिता का रो-रो कर बुरा हाल हुआ पड़ा है।