October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सम्राट मिहिर भोज मामला हुआ और भी ज्यादा विवादित, समाजवादी पार्टी के ज़िला उपाध्यक्ष ने शिलापट पर लिखे हुए भाजपा नेताओं के नाम पर पोती कालिख

दादरी में सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा पर अब विवाद और भी ज्यादा बढ़ गया है। मंगलवार की सुबह सुरेंद्र सिंह नागर ने मिहिर भोज की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित किए। उसके बाद अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के जिला अध्यक्ष और समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष ने सम्राट मिहिर भोज की प्रतिमा को गंगाजल ने नहलाकर शिलापट से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सभी भाजपा नेताओं के नाम पर कालिख पोत दी है।

 

 

इस मामले के बाद पुलिस समाजवादी पार्टी के जिला उपाध्यक्ष और उसके साथियों की तलाश कर रही है। समाजवादी पार्टी गौतम बुद्ध नगर के जिला उपाध्यक्ष और अखिल भारतीय वीर गुर्जर महासभा के जिला अध्यक्ष जिले के काफी गुर्जर नेताओं और अपने साथियों के साथ मिलकर पहले मिहिर भोज की प्रतिमा को गंगाजल से नहलाया। इस दौरान श्याम सिंह भाटी ने कहा कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भाजपा नेताओं ने मिहिर भोज के नाम के आगे से गुर्जर शब्द हटाकर गुर्जर समाज का अपमान किया है।

 

 

योगी आदित्यनाथ ने भाजपा नेताओं के साथ मिलकर मिहिर भोज की प्रतिमा को अशुद्ध किया। इसलिए उन्होंने पहले मिहिर भोज की प्रतिमा को गंगाजल से निहलाया। उसके बाद श्याम सिंह भाटी ने योगी आदित्यनाथ, राज्यसभा सांसद सुरेंद्र सिंह नागर, दादरी के विधायक तेजपाल नागर और अशोक कटारिया समेत सभी भाजपा नेताओं के नाम पर कालिख पोत दी।

यह मामला अब काफी तेजी से तूल पकड़ता जा रहा है। पुलिस श्याम सिंह भाटी और उसके साथियों की तलाश कर रही है। वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष इंद्र प्रधान का कहना है कि, इस सब प्रकरण में समाजवादी पार्टी का कुछ भी रोल नहीं है। इस मामले में समाजवादी पार्टी जिला उपाध्यक्ष श्याम सिंह भाटी के साथ नहीं है। यह श्याम सिंह भाटी का व्यक्तित्व मामला है।

Translate »