April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सुबह की महत्वपूर्ण ख़बरे

पश्चिम बंगाल और असम में पहले चरण के लिए वोट डाले जा रहे हैं। चुनाव शांतिपूर्ण हो इसको लेकर आयोग ने तैयारियां की है। पश्चिम बंगाल की 30 सीटों और असम की 47 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं। मतदाताओं में काफ़ी उत्साह दिख रहा है। असम में करीब 9% और बंगाल में क़रीब 8% वोट डाले गए हैं।

पहले चरण के मतदान को लेकर सभी सियासी दलों ने जनता से वोट की अपील की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, गृह मंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा सहित कई लोगों ने ट्वीट कर लोगों से निडर होकर मतदान की अपील की है। कोरोना महामारी की वजह से मतदान के समय में बदलाव हुआ है। शाम साढ़े छह बजे तक वोट डाले जा सकते हैं।

देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। शुक्रवार को कोरोना के 62,258 नए मरीज़ मिले हैं। एक दिन में 291 लोगों की मौत हुई है। ऐक्टिव मरीज़ों की संख्या साढ़े चार लाख से ज़्यादा हो गई है। वहीं टीकाकरण पर ज़ोर दिया जा रहा है। अब तक पांच करोड़ 81 लाख से ज़्यादा टीके लगाए गए हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी है। तमाम अपीलों के बावजूद जगह जगह लोग नियमों को नहीं मान रहे हैं। नतीजा पिछले पीक से डेढ़ गुना ज़्यादा नए मरीज़ एक दिन में मिल रहे हैं। शुक्रवार को 36,902 संक्रमित मिले हैं। यह आंकड़ा 11 सितंबर को आए पहले पीक से भी डेढ़ा गुना है। वहीं राजधानी मुंबई में लगातार दूसरे दिन 5500 से ज़्यादा नए मरीज़ मिले हैं।

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने 28 मार्च से नाइट कर्फ़्यू का फ़ैसला किया है। ये पूरे राज्य में लागू रहेगा। वहीं जिलाधिकारियों को अधिकार दिए गए हैं कि अगर उन्हें लगता है उनके ज़िले में तेज़ी से मामले बढ़ रहे हैं तो वो लॉकडाउन लगा सकते हैं। राज्य में सभी मॉल भी रात 8 बजे से सुबह सात बजे तक बंद रहेंगे ।

कर्नाटक स्वास्थ्य विभाग ने मणिपाल इंस्टीट्यूट के कैंपस को सील करने का फ़ैसला किया है। बड़ी संख्या में कोरोना मरीज़ मिलने के बाद ये फ़ैसला किया गया है। वहीं मध्य प्रदेश में संडे लॉकडाउन का दायरा बढ़ाया गया है। यहां के विदिशा, उज्जैन, ग्वालियर,नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा के सौंसर में रविवार को लॉकडाउन रहेगा। इससे पहले भोपाल, इंदौर, जबलपुर, रतलाम, बैतूल, छिंदवाड़ा और खरगोन में संडे लॉकडाउन लगाया गया था। कोरोना के बढ़ते केस की वजह से ये फ़ैसला लिया गया है।

Translate »