Monday, September 26, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

Morning News Headlines : सुबह की सुर्खियों पर एक नज़र

by MotherlandPost Desk
0 comment

1- हिब्तुल्लाह अफगानिस्तान का नया अमीर, तालिबान ने अफगान राजधानी काबुल और राष्ट्रपति भवन पर कब्जे के बाद हिब्तुल्लाह अखंदजादा को अमीर अल मोमिनीन, यानी अफगानिस्तान का राष्ट्रपति घोषित कर दिया है। अरबी में हिब्तुल्लाह का मतलब होता है ईश्वर का तोहफा। अपने नाम के उलट हिब्तुल्लाह ऐसा क्रूर कमांडर है जिसने कातिलों और अवैध संबंध रखने वालों की हत्या करवा दी। चोरी करने वालों के हाथ काटने की सजा दी।

2- तालिबान के साथ पाकिस्तान, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस्लामाबाद में एक प्रोग्राम में तालिबान की तारीफ की। उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में क्या हुआ या क्या हो रहा है? वहां गुलामी की जंजीरें ही तो तोड़ी जा रही हैं। यह पहली बार नहीं है जब इमरान तालिबान के साथ खड़े दिख रहे हैं। तालिबान ने रविवार को जब काबुल पर कब्जा किया था, तब पाकिस्तान के कई इलाकों में खुशियां मनाई गई थीं।

3- अडाणी ग्रुप लाएगा सुपर ऐप, अडाणी ग्रुप एक सुपर ऐप लाने की तैयारी में है। इसके जरिए वह अपनी कंपनियों के साथ दूसरी कंपनियों की सेवाओं और प्रोडक्ट भी ऑफर करेगा। इस सेक्टर में पहले से मौजूद रिलायंस इंडस्ट्रीज की जियो, टाटा और ITC जैसी कंपनियों से उसका सीधा मुकाबला होगा। अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी ने अडाणी डिजिटल लैब के कर्मचारियों के साथ सुपर ऐप लाने पर मीटिंग की।

4- रैपिड एंटीजन टेस्टिंग किट के निर्यात पर रोक, कोरोना की तीसरी लहर की चिंता के बीच केंद्र सरकार ने रैपिड एंटीजन टेस्टिंग किट के निर्यात पर लगा दी है। इस किट का इस्तेमाल तुरंत रिजल्ट पाने के लिए किया जाता है। डायरेक्टरेट जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (DGFT) ने एक्सपोर्ट पॉलिसी में इस बदलाव की जानकारी दी। DGET के मुताबिक, कोरोना की जांच के लिए लैब में काम आने वाले केमिकल भी पाबंदी के दायरे में होंगे।

5- सस्ते नहीं होंगे पेट्रोल-डीजल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने महंगे फ्यूल के लिए पिछलीया नी UPA सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि हम उनके बोझ ढो रहे हैं। ऐसे में पेट्रोल-डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटाने की संभावना कम है। मनमोहन सरकार ने ऑइल बॉन्ड जारी किए थे। इसका भुगतान हमें करना पड़ा रहा है। ऐसे में एक्साइज ड्यूटी घटाकर पेट्रोल-डीजल के दाम कम करना मुमकिन नहीं है।

About Post Author