September 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

Morning News Headlines : सुबह की सुर्खियों पर एक नज़र

1- प्रधानमंत्री मोदी के 71वें जन्मदिन पर 20 दिन का मेगा
इवेंट होगा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 17 सितंबर को जन्मदिन है। BJP इस मौके पर ‘सेवा और समर्पण अभियान’ शुरू करेगी। यह अभियान 7 अक्टूबर तक चलेगा। 7 अक्टूबर 2001 को नरेंद्र मोदी गुजरात के CM बने थे। इस तरह मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री के पद पर रहते हुए उन्हें 20 साल हो जाएंगे। पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा है कि इन 20 दिनों में सफाई और रक्तदान अभियान चलाया जाएगा।

2- कोरोना की तीसरी लहर की आहट, देश में कोरोना के आंकड़े तीसरी लहर शुरू होने का संकेत दे रहे हैं। बीते दिन 42 हजार से ज्यादा नए केस मिले। इसके साथ ही देश में एक्टिव केस की संख्या एक बार फिर 4 लाख के पार हो गई। 7 अगस्त के बाद पहली बार ऐसा हुआ है। तब 4 लाख एक्टिव केस थे। इसके बाद कम होते-होते 23 अगस्त को सिर्फ 3.06 लाख ही केस रह गए। यहां से इनकी संख्या में बढ़ोतरी शुरू होने लगी।

Credit- REUTERS

3- काबुल में प्रदर्शन कर रहीं महिलाओं को तालिबान ने
बंदूकों की बट से मारा, अफगानिस्तान में महिलाएं तालिबान के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं। वे देश की नई सरकार में महिलाओं की भागीदारी मांग रही हैं। काबुल में प्रदर्शन के दौरान तालिबानियों ने आंसू गैस छोड़कर उन्हें रोकने की कोशिश की है। एक्टिविस्ट नरगिस सद्दात ने आरोप लगाया कि प्रदर्शन के दौरान तालिबान ने उन्हें पीटा। नरगिस ने बताया कि लड़ाकों ने उनके चेहरे पर बंदूक की बट से हमला किया।

Reuters

4- द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता बने PM मोदी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रियता के मामले में दुनिया भर के नेताओं से आगे हैं। द मॉर्निंग कंसल्ट के सर्वे में यह बात सामने आई है। सर्वे के मुताबिक, मोदी की अप्रूवल रेटिंग 70% है। उनके बाद मेक्सिको के राष्ट्रपति लोपेज ओब्रेडोर, इटली के PM मारियो ड्रागी, जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन का नंबर है। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन 8वें नंबर पर हैं।

5- किरेन रिजिजू को देखा तो लगा किसी स्टूडेंट से मिल रहा हूं, दिल्ली में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अभिनंदन समारोह में चीफ जस्टिस एनवी रमना ने लॉ मिनिस्टर किरेन रिजिजू से पहली मुलाकात के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि मैं जब पहली बार लॉ मिनिस्टर से मिला तो ऐसा लगा जैसे किसी कॉलेज स्टूडेंट से मिल रहा हूं। मैं उनकी उम्र नहीं पूछना
चाहता था। कानून मंत्री ने बताया था कि मैंने लॉ की डिग्री ली है लेकिन प्रैक्टिस का अनुभव नहीं है।

Livelaw
Translate »