September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

मुल्ला बरादर बनेगा अफ़ग़ानिस्तान का नया राष्ट्रपति! जानें कौन है बरादर

दिनों के अत्याचार के बाद तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान पर क़ब्ज़ा जमा लिया है। इस बीच इस क़यास पर वीराम लगाते हुए कि सत्ता की बागडोर किसके हाँथ में होगी, तालिबान ने इस का ऐलान कर दिया है। कहा जा रहा है कि कट्टरपंथी इस्लामिक समूह तालिबान का नेता मुल्ला अब्दुल गनी बरादर देश का राष्ट्रपति बन सकता है।

 

Ndtv

 

समाचार एजेंसी ANI के अनुसार मुल्ला बरदार ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया था जिसमें अफ़ग़ानिस्तान पर बेहद कम समय में नियंत्रण कर लेने की ख़ुशी का इज़हार किया गया है।

समाचार एजेंसी अलजजीरा के मुताबिक़, मुल्ला बरादर ने वीडियो पोस्ट में कहा है, ‘इतने कम वक्त में किसी भी मुल्क को जंग में जीत नसीब नहीं हुई यह अप्रत्याशित है। लेकिन अब हमारे सबसे बड़ी चुनौती अफ़ग़ानिस्तान की जनता की उम्मीदों पर खरा उतरने और अफ़गान जनता की समस्याओं को दूर करना हमारे लिए चुनौती होगी।’
कहा जा रहा है कि यह संदेश इस ओर इशारा करता है कि मुल्ला बरादर देश की कमान संभाल सकता है।

मुल्ला बरादर अफ़ग़ानिस्तान के उरुजगान प्रांत के देहराऊद जिले का रहने वाला और पख्तून है।
बता दें 1990 के दशक में इस्लामिक शरिया कानून के मुताबिक शासन चलाने वाले तालिबान की नींव रखने वालों में से मुल्ला बरादर भी एक था। इससे पहले जब अफ़ग़ानिस्तान पर सोवियत संघ में क़ब्ज़ा किया था तब मुल्ला बरदार ने सोवियत की फ़ौजों के ख़िलाफ़ जेहाद की घोषणा की थी।

ग़ौरतलब है कि 9/11 के हमले के बाद जब तालिबान को अफ़ग़ानिस्तान की सत्ता से उखाड़ फेंका गया तब मुल्ला बरादर अमेरिकी सैनिकों के ऊपर हमला करने वालों में से एक था। इसके पहले जब अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान की सरकार थी तब बरादर उप रक्षा मंत्री के रूप में काम कर रहा था।

इसके अलावा तालिबान के लिए फंडिंग इकट्ठा करने और नए रंगरूटों की भर्ती के काम में भी उसे महारत हासिल है। जब अमेरिका ने तालिबान पर हमला किया था तब बरादर अंडरग्राउंड हो गया था और 10 साल बाद पाकिस्तान के कराँची शहर में पकड़ा गया। बहुतों का यह कहना है कि पाकिस्तान को इस बात की पूरी जानकारी थी कि बरादर उनके देश में ही छुपा है।

Translate »