Wednesday, August 3, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

नागौर रेप केस: RLP विधायक मिले पीड़ित परिवार से, उन्नाव पर मुखर होने वाली प्रियंका गाँधी वाड्रा और राहुल गाँधी ने नागौर में चुप्पी क्यूँ?

by Sachin Singh Rathore
0 comment

राजस्थान के नागौर जिले के डीडवाना में हुए दुष्कर्म और पीड़िता की मौत का तूल पकड़ता जा रहा है। दरअसल, राजधानी जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में 7 दिन तक मौत से जंग लड़ने के बाद जिंदगी की जंग लड़ने वाली पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए भाजपा सांसद किरोड़ीलाल मीणा समेत कई सामाजिक संगठन आगे आए थे।  17 फरवरी की शाम को पीड़िता की मौत हो गई थी। किरोड़ी लाल ने आरोपियों के गिरफ्तार करने और पीड़ित परिवार को 50 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिलाने की मांग की थी। शनिवार देर रात पुलिस ने शव डीडवाना शिफ्ट कर दिया।

RLP के विधायक मिलकर सहायता का दिया आश्वासन 

रविवार को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी  (RLP) के तीनों विधायक पीड़ित परिवार से मिले और हरसंभव सहायता देने का आश्वासन दिया । RLP के प्रदेश अध्यक्ष  एवं भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, नारायण बेनीवाल और  मेड़ता विधायक इंदिरा बावरी नागौर उपखंड़ कार्यालय पर चल रहे धरने में शामिल हुए। तीनों विधायकों ने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था और महिला सुरक्षा को लेकर गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा।

उन्नाव पर मुखर, नागौर पर चुप्पी क्यूँ 

वहीं कांग्रेस हाईकमान को इस घटना पर जैसे सांप सूंघ गया हो। उन्नाव में मुखर होकर बोलने और रातों-रात जाने वाली प्रियंका गाँधी वाड्रा और राहुल गाँधी को यहां पीड़िता का दर्द महसूस नहीं हो रहा या फिर अपनी सरकार पर चुप्पी साधना राजनीति दलों की व्यवस्था का हिस्सा बन गया है? सवाल कई उठ रहे। क्या इस मासूम को इन्साफ मिल पाएगा?

पीड़ित के पिता ने दी आत्महत्या की धमकी

प्रदेश अध्यक्ष पुखराज गर्ग ने कहा कि पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। उनकी पार्टी पीड़ित परिवार की हरसंभव सहायता करेगी। पीड़िता का शव डीडवाना स्थित बांगड़ हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखा गया है। मौके पर प्रसासनिक अधिकारी और भारी पुलिस जाब्ता को तैनात है। पीड़िता के गांव में भी भारी पुलिस भेजा गया है। कुछ लोग पीड़िता के ससुराल पक्ष के लोगों को लेकर उनकी सहमति से पुलिस-प्रशासन से अंतिम संस्कार की मांग कर रहे है।

इसलिए आशंका जताई जा रही है कि अंतिम संस्कार करवाया जा सकता है। गैंगरेप पीड़िता के पिता ने धमकी दी है कि बिना उनकी अनुमति के दाह संस्कार किया गया तो वह जान दे देंगे। उन्हें बेटी के ससुराल वालों पर विश्वास नहीं है।

About Post Author