July 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने ली कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़

न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने शुक्रवार को देश में कोरोना वैक्सीन लगवाने की कड़ी में फ़ाइजर COVID-19 वैक्सीन का पहला शॉट लिया।

न्यूज़ीलैंड महामारी की शुरुआत में ही अपनी सीमाओं को बंद कर और सख़्त लॉकडाउन लगाकर उन चंद देशों में से एक बन गया जिसने कोरोना माहमारी को लगभग ख़त्म कर दिया लेकिन सरकार को टीकों के धीमे रोलआउट के लिए आलोचना का सामना भी करना पड़ रहा है।

ऑकलैंड के एक टीकाकरण केंद्र में शॉट प्राप्त करने के लिए बैठते हुए अर्डर्न ने कहा, “मैं मास्क के नीचे मुस्कुरा रही हूँ।” जिसका मीडिया साक्षी बना।

 

Credit- Reuters

 

टीके का शॉट लगवाने के बाद प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने कहा, “मेरे लिए, मैं कभी भी पहले लोगों में से नहीं बनना चाहता था, मेरे लिए हमें पहले उन फ्रंट लाइन वर्कर्स को टीका लगवाना चाहिए, लेकिन मुझे एक रोल मॉडल बनने की भी आवश्यकता है और यह दर्शाता है कि यह सुरक्षित है, कि यह प्रभावी है और यह वास्तव में बेहद ज़रूरी है कि जब भी लोगों को मौक़ा मिलता है तो वे टीका ज़रूर लगवाएँ।”

“जब लोग ये कहते हैं कि इसमें दर्द नहीं होता तो मैं आपको बता दूँ ये बिल्कुल सच है।”
5 मिलियन लोगों के देश न्यूजीलैंड में अब तक फ़ाइजर वैक्सीन की लगभग 1 मिलियन ख़ुराक़ दी जा चुकी है।

ग़ौरतलब है कि देश के चिकित्सा अधिकारियों ने अभी तक एस्ट्राजेनेका सहित किसी अन्य टीके के उपयोग को मंज़ूरी नहीं दी है।

अर्डर्न ने पिछले हफ़्ते कहा था कि देश साल के अंत तक टीकाकरण के योग्य सभी लोगों को शॉट्स देने की ओर अग्रसर है। सरकार पर टीकाकरण में तेज़ी लाने और अपनी सीमाओं को फिर से खोलने का दबाव बढ़ रहा है।

अर्डर्न ने कहा है कि अधिक लोगों को टीका लगाने से देश को सीमा पर अधिक विकल्प मिलते हैं। 60 से अधिक उम्र के लोगों के को जुलाई से और 55 से अधिक लोगों को अगस्त से टीकाकरण अभियान में शामिल किया जाएगा।

45 वर्ष से अधिक आयु वालों लिए अगस्त के अंत तक टीका लगवाने की पहल को जा सकती है, जबकि सितंबर के अंत तक 35 वर्ष से अधिक आयु वालों को टीका लगवाया जाएगा। इसके अलावा बचे हुए सभी लोगों को अक्टूबर में टीका लगेगा।

Translate »