September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

किडनी ट्रांसप्लांट के मारीज़ों पर क्या बूस्टर वैक्सीन करेगी काम? NIH के नए अध्ययन में होगा ख़ुलासा

यूएस नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ हेल्थ (NIH) ने मंगलवार को कहा कि उसने यह आकलन करने के लिए एक नया अध्ययन शुरू किया है कि किडनी ट्रांसप्लांट के बाद इम्यूनोसप्रेसिव थेरेपी के मरीज़, जिनपर COVID-19 वैक्सीन की पहली दो ख़ुराकों का कोई विशेष प्रभाव नहीं दिखा था, उनका शरीर तीसरी डोज़ पर कैसे रियेक्ट करता है।

 

Credit- REUTERS

 

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज़ (NIAID) द्वारा स्पोंसर्ड इस अध्ययन का उद्देश्य यह निर्धारित करना है कि क्या मॉडर्न या फ़ाइजर/बायोएनटेक COVID-19 वैक्सीन की तीसरी खुराक किडनी ट्रांसप्लांट के रोगियों में इम्युनिटी विकसित नहीं करने की समस्या से उबरने में मदद कर सकती है।

अमेरिकी स्वास्थ्य नियामकों ने कहा है कि बूस्टर वैक्सीन शॉट्स की आवश्यकता का पता लगाने के लिए अधिक वैज्ञानिक प्रमाण की आवश्यकता है, हालांकि ये संकेत दिया है कि इम्यून सिस्टम वाले लोगों के लिए तीसरे शॉट की आवश्यकता हो सकती है।

अध्ययन का उद्देश्य उन विशेषताओं की पहचान करना भी है जो उन किडनी ट्रांसप्लांट करवाने वालों को अलग करने में मदद कर सकते हैं जिन्हें वैक्सीन की तीसरी डोज़ से लाभ होगा और जिन्हें सुरक्षा प्राप्त करने के लिए एक अलग तरीक़े की आवश्यकता हो सकती है।

Translate »