December 2, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

नौवीं बैठक भी हुई असफल, आज फिर नोएडा प्राधिकरण पर धावा बोलेंगे नोएडा के हजारों किसान

नोएडा में 81 गांव के किसान मंगलवार को फिर नोएडा अथॉरिटी पर प्रदर्शन करेंगे। सोमवार को किसानों और नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों के बीच बैठक हुई। जिसमें किसानों की सहमति नहीं बनी है। सोमवार को भी बैठक में सारी वार्ता असफल हुई। किसानों का कहना है कि वह मंगलवार को अब प्राधिकरण दफ्तर पर कब्जा करेंगे।

Noida kisan baithak

नोएडा में पिछले करीब 2 महीनों से प्रदर्शन चल रहा है। नोएडा के किसान अपनी विभिन्न मांगों को लेकर प्राधिकरण का प्रदर्शन कर रहे हैं। लेकिन इन किसानों की कोई भी मदद नहीं कर रहा है। सोमवार को भारतीय किसान परिषद के अध्यक्ष सुखबीर खलीफा और प्राधिकरण के अधिकारियों के बीच बैठक चली। यह बैठक देर शाम तक चली। लेकिन कोई भी नतीजा सामने निकलकर नहीं आया है। नोएडा के किसान प्राधिकरण पर करीब 75 दिनों से धरना दे रहे हैं।

क्या है किसानों की मांग

नोएडा के किसानों की मांग है कि, आबादी जहां है वैसी छोड़ी जाए। 10 प्रतिशत भूखंड दिए जाएं। 64 प्रतिशत का बचा हुआ अतिरिक्त मुआवजा दिया जाए। नई नक्शा नीति को वापस लिया जाए, क्योंकि ग्रामीण नई नक्शा नीति के बिलकुल खिलाफ है और किसानों को 5 प्रतिशत के भूखंड आवंटित किए जाएं।

लेकिन प्राधिकरण इन बातों को मानने के लिए तैयार नहीं है। प्राधिकरण की तरफ से कहा गया है कि, 10 प्रतिशत विकसित आबादी और उसके समतुल्य धनराशि प्रदान किए जाने के मामले में शासन स्तर से पहले ही निर्णय हो चुका है। जिसको किसान मानने के लिए तैयार नहीं है। पुश्तैनी और गैर पुश्तैनी आबादी की मांग के संबंध में किसानों को बताया गया कि साल 2014 में इस विभेद को समाप्त कर दिया गया। जिसके किसान बिलकुल खिलाफ है।

Translate »