Tuesday, August 9, 2022

MOTHER LAND POST

MOTHERLANDPOST

कोरोना की चौथी लहर के बीच जापान का फ़ैसला, कहा ओलंपिक रद्द करने का कोई विचार नहीं

by Disha
0 comment

टोक्यो 2020 आयोजन समिति के अध्यक्ष ने शहर की सरकारों और चिकित्सा पेशेवरों के बीच महामारी के चलते इसके आयोजन पर शक़ के दैरान ओलंपिक को रद्द करने या आगे स्थगित करने से इंकार कर दिया है।

 

Credit- Reuters

 

जापान में जनमत सर्वेक्षणों ने लगातार दिखाया है कि अधिकांश लोग चाहते हैं कि खेलों को रद्द कर दिया जाए या एक साल की देरी के बाद शुरू किया जाए, ऐसा कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ने के कारण हो रहा है।

टोक्यो शिंबुन अखबार ने गुरुवार को बताया कि टोक्यो मेट्रोपॉलिटन असेंबली का अधिकांश हिस्सा यही महसूस करता है कि ओलंपिक खेलों का आयोजन अभी न किया जाए।

एथलीट से नेता बने और आयोजन समिति के अध्यक्ष सीको हाशिमोतो ने गुरुवार को निक्कन स्पोर्ट्स अखबार द्वारा प्रकाशित एक साक्षात्कार में कहा, “हम इसे फिर से स्थगित नहीं कर सकते।”

विदेशी दर्शकों को पहले ही खेलों से प्रतिबंधित कर दिया गया है, और अधिकारियों को भी यह तय नहीं है कि जापानी प्रशंसकों को आयोजन स्थलों में जाने की अनुमति दी जाएगी या नहीं।

अर्थव्यवस्था मंत्री यासुतोशी निशिमुरा ने गुरुवार को कहा कि उत्साहित प्रशंसकों के चिल्लाने और गले लगाने से संक्रमण का ख़तरा हो सकता है।

 

Credit- Reuters

ओलंपिक प्रशिक्षण या आयोजनों की मेज़बानी के लिए निर्धारित क़स्बों और शहरों ने भी आयोजन की बाबत संदेह व्यक्त किया है। चिंता इस बात की है कि इस बीच वायरस को और विस्तार मिलेगा और स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो जाएगी।

मीडिया ने बताया कि ओटा सिटी की सरकार के ऑस्ट्रेलियाई एथलीटों के लिए शहर और होटल के कर्मचारियों को तरजीह देकर कोविड-19 टीकाकरण कराने के निर्णय से निवासियों में नाराज़गी का माहौल है।

कोरोना की फ़िक्र कुछ ऐसी है कि अलग-अलग देश ओलंपिक में अपनी भागीदारी देने से अपने हाँथ खींच रहे हैं।
अफ़्रीका की ओलंपिक समिति ने बुधवार को कहा कि फुकुओका के दक्षिणी प्रान्त का कुरुमे शहर, केन्या के पूर्व-ओलंपिक प्रशिक्षण शिविर की मेज़बानी करने से पीछे हट गया है।

जापान फ़ुटबॉल एसोसिएशन (जेएफए) ने गुरुवार को कहा कि घाना की अंडर-24 टीम का एक खिलाड़ी जापान में मैच के लिए पहुंचने के बाद कोरोनावायरस से संक्रमित पाया गया। वहीं ताइवान में, चीनी ताइपे बेसबॉल एसोसिएशन ने कहा कि वह संक्रमण की चिंताओं के बीच मैक्सिको में ओलंपिक क्वालीफ़ायर खेलों से बाहर हो रहा है।

बता दें कि ओलंपिक खेलों के आयोजन के तक़रीबन आठ हफ़्ते पहले जापान कोरोना संक्रमण की चौथी लहर से जूझ रहा है। देश में वैक्सीन का रोलआउट भी धीमा ही चल रहा है और टोक्यो सहित 10 क्षेत्रों में 20 जून तक एमरजेंसी लगाई गई है।

 

Credit- Reuters

 

जापान में अबतक 746,000 से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं और 13,000 से अधिक मौतें हुई हैं। जापान के शीर्ष चिकित्सा सलाहकार शिगेरू ओमी उन चिंताओं के बारे में अधिक मुखर हो गए हैं जो उनके और अन्य चिकित्सा विशेषज्ञों में ओलंपिक खेलों को लेकर बनी हुई हैं।

बुधवार को, ओमी ने एक संसदीय समिति से कहा कि संक्रमण की मौजूदा स्थिति के बीच ओलंपिक की मेज़बानी करना एक असामान्य बात होगी और अगर यही स्थिति रहती है तो आयोजकों की ज़िम्मेदारी है कि वे इस आयोजन को रोकें।

ओमी ने कहा, “हम अब विचार कर रहे हैं कि हमें अपनी सलाह कहाँ देनी चाहिए।”
“अगर वे (खेल) आयोजित करना चाहते हैं, तो यह हमारा काम है कि हम उन्हें बताएं कि जोखिम क्या हैं।”

About Post Author