September 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बढ़ते कोरोना मामलों पर केरल की स्वास्थ्य मंत्री का फ़ैसला, ओणम के दौरान नहीं होगी किसी सामूहिक सभा की इजाज़त

केरल में कोविड मामलों के बढ़ने और केंद्र के लिए चिंता का विषय बनने के बाद, राज्य ने कहा है कि वह उचित उपायों का पालन कर रहा है, लेकिन यह टीकाकरण का विस्तार करने और आइसोलेशन सुविधाओं के साथ और अधिक कठोर बनने की मांग करता है।

 

 

केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि उन्होंने केंद्र में अपने समकक्ष मनसुख मंडाविया से 1 करोड़ 11 लाख टीकों के लिए अनुरोध किया है और उन्होंने 30 सितंबर तक जैब्स की गारंटी दी है।
जॉर्ज के कहा, ‘अगर हमें टीके मिलते हैं, तो हम सभी ज़रूरतमंद लोगों को टीका लगाने में सक्षम होंगे। …लोगों को उनकी पहली खुराक 30 सितंबर तक दी जाएगी।”

जॉर्ज ने कहा कि हालांकि पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ रही है – केरल पिछले दिनों 30,000 से अधिक मामलों की रिपोर्ट कर रहा है – लेकिन इन संक्रमणों में बीमारी की गंभीरता कम है। उन्होंने कहा कि आईसीयू, वेंटिलेटर-ऑक्यूपेंसी 50 फ़ीसद से काफ़ी नीचे हैं।

राज्य के स्वास्थ्य मंत्री ने दोहराया कि स्थिति नियंत्रण में है, हालांकि उन्होंने ये भी कहा कि ओणम समारोह के दौरान लोगों को किसी भी सार्वजनिक सभा की अनुमति नहीं है।

उन्होंने कहा, “दूसरी लहर अप्रैल के मध्य से शुरू हुई और 12 मई को चरम पर पहुंच गई। मई में, दैनिक केसलोड 40 हज़ार तक चला गया था। उस समय, पॉजिटिविटी रेट लगभग 30 फ़ीसद थी। बाद में, हम इसे तक़रीबन 10 फ़ीसद तक नीचे लाने में कामयाब रहे।”

जॉर्ज ने केरल ने नागरिकों से कोविड स्पाइक के बीच नियमों का पालन करने का आग्रह किया। वीना जॉर्ज ने कहा कि राज्य सरकार जनता से कोविड-उपयुक्त व्यवहार का पालन करने की अपील कर रही है। उन्होंने कहा कि केरल एकमात्र ऐसा राज्य है जो ब्रेकथ्रू इन्फ़ेक्शन जैसे विभिन्न मानकों पर अध्ययन कर रहा है और यह मामलों की स्पाइक को नियंत्रित करने के लिए ICMR और WHO द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का भी पालन कर रहा है।

Translate »