September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

अवैध यूनिपोल पर चला ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का पीला पंजा, कई अवैध यूनिपोल किए ज़ब्त

ग्रेटर नोएडा में अवैध यूनिपोल लगाने वालों के खिलाफ प्राधिकरण की तरफ से कार्रवाई जारी है। प्राधिकरण ने बृहस्पतिवार को फिर से अवैध यूनिपोल लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की। अवैध यूनिपोल जब्त कर लिए गए। यूनिपोल लगाने वालों पर जुर्माना भी लगाया गया। अवैध अभियान आगे भी जारी रहेगा।

 

 

ग्रेटर नोएडा एरिया में यूनिपोल लगाने के लिए दो कंपनियों को जिम्मेदारी दी गई है। उनको शहर में 61 तय जगहों पर यूनिपोल लगाने की अनुमति है। प्राधिकरण की तरफ से यूनिपोल लगाने के लिए नियम कायदे भी बने हुए हैं, ताकि शहर की सुंदरता भी बनी रहे और आम नागरिकों की सुरक्षा को भी खतरा न हो। इनके अतिरिक्त कहीं भी यूनिपोल लगाने पर रोक है। अगर कोई यूनिपोल पर विज्ञापन लगाता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाती है। यूनिपोल लगाने वालों पर जुर्माना भी लगाया जाता है और यूनिपोल जब्त कर लिए जाते हैं। प्राधिकरण ने जीआईएस के जरिए अवैध यूनिपोल चिंहित किए हैं।

 

 

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण के निर्देश पर बृहस्पतिवार को इन अवैध यूनिपोल को हटाने का अभियान चलाया गया। अलग-अलग जगहों पर वर्क सर्किल की टीम इन यूनिपोल को जब्त करने में लगी रहीं। ग्रेटर नोएडा वेस्ट और ग्रेटर नोएडा में एक साथ अभियान चलाए गए। ग्रेटर नोएडा वेस्ट से जब्त कर यूनिपोल को गौड़ चौक पुलिस चौकी के पास रखवाया गया। देर रात तक यूनिपोल के छोटे-छोटे टुकड़े कर स्टोर में रखवाया गया। इनका इस्तेमाल शहर के सौंदर्यीकरण के कार्यों में किया जाएगा। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण अवैध यूनिपोल के खिलाफ पहले भी कार्रवाई कर चुका है। उस समय 10 यूनिपोल जब्त किये थे। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने सभी जब्त यूनिपोल के छोटे-छोटे टुकड़े कर गोदाम में रखने को कहा है। सीईओ ने सभी वैध यूनिपोल की सूची र्साजनिक जगहों पर चस्पा करने व वेबसाइट पर शीघ्र डालने के निर्देश दिए हैं।

 

अवैध यूनिपोल से जानमाल के नुकसान का खतरा

अवैध यूनिपोल से न सिर्फ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को आर्थिक रूप से नुकसान पहुंचता है, बल्कि आम लोगों की जान-माल के नुकसान का भी खतरा बना रहता है। यूनिपोल लगाने के लिए मानक व जगह तय हैं। अनुमति देने से पहले प्राधिकरण उसके मजबूत स्ट्रक्चर व अन्य मानकों की जांच करता है। खामी मिलने पर उसे दुरुस्त कराता है। अवैध यूनिपोल होने पर वे मानक पूरे नहीं होते। आंधी-तूफान के समय उनके गिरने से जानमाल का खतरा रहता है।

 

ये हैं वैध यूनिपोल के लिए तय जगह

60 मीटर रोड पर किसान चौक के पास (दो जगह), गौड़ सिटी के पास 130 मीटर रोड, शारदा विवि के सामने, यमुना प्राधिकरण के दफ्तर के पास सेक्टर ओमेगा वन, पी थ्री गोलचक्कर के पास, एक्सपो मार्ट, सेक्टर चाई वन स्थित आईएफएस कॉलोनी, डेल्टा वन मंदिर के पास, अल्फा वन कॉमर्शियल बेल्ट, सेक्टर अल्फा टू की तरफ सिटी पार्क, डेल्टा वन मेट्रो स्टेशन, विप्रो रोटरी, हल्दौनी गांव के पास डीएससी रोड पर, कच्ची सड़क, डीएससी रोड पर यामहा कंपनी के पास, सूरजपुर-कासना रोड पर मोजरबेयर कंपनी के पास, डीपीएस स्कूल के सामने, तिगड़ी रोटरी से किसान चौक की तरफ (3 जगह), हिंडन पुल (दो जगह), शाहबेरी रोटरी से एक मूर्ति गोलचक्कर के बीच (तीन जगह), इकोटेक 12 (दो जगह), टेकजोन -7 (तीन जगह), किसान चौक से सेक्टर दो रोटरी (तीन जगह), हनुमान मंदिर से नया हिंडन पुल (तीन जगह), बिसरख गांव के पास (तीन जगह), गलगोटिया कॉलेज के पास ग्रेनो एक्सप्रेसवे पर, सेक्टर अल्फा वन रोटरी से पी थ्री रोटरी के पास (दो जगह), यमुना एक्सप्रेसवे के एंट्री प्वाइंट के पास, आम्रपाली ड्री वैली के पास, सेक्टर दो बिसरख रोड, रोजा जलालपुर पुलिस चौकी, वैदपुरा रोटरी, कैलाश अस्पताल के पास, गामा टू रोटरी, ओमैक्स क्नॉटप्लेस रोटरी के पास, एटीएस रोटरी, बीटा टू रोटरी, सीएनजी स्टेशन कासना, तिगड़ी रोटरी से किसान चौक, गौड़ सिटी मॉल के सामने, शाहबेरी रोटरी टू एकमूर्ति रोटरी (दो जगह) व ऐस सिटी के पास।

 

अवैध यूनिपोल की जानकारी इन नंबरों पर दें

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण एरिया में अगर कहीं अवैध या जर्जर यूनिपोल दिखें तो आप प्राधिकरण के हेल्पलाइन नंबर 0120-2336046, 47 48 व 49 पर कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल नंबर 8800203912 पर व्हाट्स एप मैसेज भी कर सकते हैं।

Translate »