BREAKING: सरकारी पेपर में फर्जीवाड़ा करने वालों का नोएडा पुलिस ने किया भंडाफोड़, किसी और के स्थान पर पेपर देने वाले 2 पुलिसकर्मी समेत 9 गिरफ्तार

शनिवार को नोएडा थाना सेक्टर-58 नोएडा पुलिस द्वारा फर्जी और धोखाधडी कर परीक्षा में आवेदको के जगह खुद के सॉल्वर बैठाकर दिल्ली पुलिस और अन्य विभाग में नौकरी दिलाने के नाम पर लाखों की ठगी करने वाले गैंग के 9 सदस्यो को गिरफ्तार किया गया है। जिसमें दो आरोपी दिल्ली के कास्टेबल है। जिनके कब्जे कुल 2,10,000 रुपये और 03 चार पहिया वाहन (स्कार्पियो, ब्रेजा, रेनो क्विड) और दो अदद वर्दी दिल्ली पुलिस, 11 मोबाईल फोन और फर्जी कागजात बरामद हुये है।

सरकारी पेपर में फर्जीवाड़ा करने वालों का नोएडा पुलिस ने किया भंडाफोड़
सरकारी पेपर में फर्जीवाड़ा करने वालों का नोएडा पुलिस ने किया भंडाफोड़

अपर पुलिस आयुक्त (कानून व्यवस्था) लव कुमार ने बताया कि, शनिवार की सुबह 08.15 बजे परीक्षा केन्द्र आईओन डिजीटल जोन सैक्टर-62 नोएडा द्वारा सूचना प्राप्त हुई कि तीन लडके जो आज प्रथम पाली में हो रहे दिल्ली पुलिस के परीक्षा में किसी और आवेदको की जगह उनके आई कार्ड लेकर परीक्षा देने आये थे। जो चैकिंग के दौरान गेट पर पकडे गये है।

सूचना पर थाना सैक्टर-58 नोएडा की पुलिस टीम मौके पर पहुचकर परीक्षा केन्द्र पर पकडे गये अर्पित, दिनेश चौधरी और अमन से पूछताछ के बाद उनके 6 साथी 1. दिनेश जोगी 2. कास्टेबल रविन्द्र कुमार 3. कास्टेबल मंजीत सिंह 4. शिव कुमार 5. मुकेश 6. सोनू को परीक्षा केन्द्र के बाहर गिरफ्तार पूछताछ करने पर बताया कि दिनेश जोगी और उसका मामा रवि कुमार, जो इनकम टैक्स में इंस्पेक्टर है। उनके साथी अरविन्द उर्फ नैन जो एमएचए गृह मंत्रालय में तैनात है। इनके साथ षडयंत्र कर दिनेश जोगी पूरा गैंग चलाता है।

पता चला कि, दिनेश जोगी वर्तमान में रक्षा मंत्रालय में एएसओ के पद पर अपनी जगह किसी और सॉल्वर को बैठा कर नौकरी प्राप्त की है। जिसकी ज्वाइंनिंग कुछ दिनो में होने वाली है। दिल्ली पुलिस के दो कास्टेबल रविन्द्र, मंजीत का काम सॉल्वर को उपलब्ध कराना और दोनो कॉन्स्टेबल द्वारा सॉल्वर अमन, दिनेश, अर्पित तीनो को ही दिनेश जोगी को उपलब्ध कराया था। तीनों शाल्वर के द्वारा आवेदक शिव कुमार पुत्र सेरेश चन्द्र निवासी उपरोक्त की जगह अभियुक्त अर्पित उपरोक्त तथा आवेदक नितिन कुमार पुत्र विजेन्द्र सिंह नि. ग्राम समसपुर चरखी दादरी हरियाणा की जगह अभियुक्त अमन उपरोक्त तथा आवेदक प्रवीन कुमार पुत्र राजपाल नि. चरखी दादरी हरियाणा की जगह अभियुक्त दिनेश चौधरी उपरोक्त द्वारा परीक्षा देने आये थे।

पुछताछ में यह भी खुलासा हुआ है कि गैंग का मुख्य सरगना दिनेश जोगी है अब तक लगभग 100 लोगो को धोखाधडी से अन्य विभागो में अपने सॉल्वर बैठाकर नौकरी दिला चुका है तथा करोडो रूपये की ठगी कर चुका है, जिसमें इसका मामा रवि कुमार उसका साथी अरविन्द उर्फ नैन व दिल्ली पुलिस के दोनो कास्टेबल व अन्य साथी शामिल है तथा लोगो से नौकरी दिलाने के नाम पर मोटी रकम 10 लाख रूपये 20 लाख रूपये तक की रकम प्रत्येक आवेदक से वसूल कर आपस में बांट लेते है। बरामद रूपये के बारे में बताया कि सॉल्वर को पेपर समाप्त होने पर बतौर एडवांस उनकी इच्छानुसार रूपये दे देते है। पूछताछ में यह भी पता चला कि है कि दिल्ली पुलिस के दोनो कास्टेबल अपनी वर्दी अपनी गाडी के अन्दर हैंगर में टांग कर रखते है ताकि वर्दी देखकर कोई चैक न करे।

बरामदगी का विवरण

दिनेश जोगी के पास से –

1. नकद 60,000/- रूपये
2. एक मोबाईल फोन वीवो कम्पनी (स्वयं का)
3. एक मोबाईल फोन ओपो कम्पनी (दिनेश पुत्र मुकेश का)
4. एक आई कार्ड हरियाणा पुलिस कांस्टेबल का (सतेन्द्र)
5. एक आधार कार्ड फर्जी (महेश पुत्र जवाहर सिंह फरीदाबाद हरियाणा)
6. एक ड्राईविंग लाईसेन्स फर्जी (महेश पुत्र जवाहर सिंह फरीदाबाद हरियाणा)
7. एक पर्स (अभियुक्त दिनेश जिसके अन्दर अन्य कागजात)
8. एक पर्स (अभियुक्त दिनेश पुत्र मुकेश का जिसके अन्दर अन्य कागजात)
9. एक ब्रेजा कार रंग लाल नं0 एचआर-30-क्यू-8872

रविन्द्र के पास से –

1. नकद 50,000/- रूपये
2. दो मोबाईल फोन वीवो कम्पनी के (स्वयं के)
3. एक फर्जी ड्राईविंग लाईसेन्स (राकेश कुमार पुत्र ब्रहलाद सिंह नि0 राजस्थान)
4. एक पर्स जिसके अन्दर खुद के कार्ड व कागजात
5. एक आई कार्ड दिल्ली पुलिस स्वयं का
6. एक महिन्द्रा स्कार्पियो नं0 एचाअर-10-एजी-9621
7. एक वर्दी दिल्ली पुलिस स्वयं की

मंजीत के पास से –

1. नकद 50,000/- रूपये
2. एक मोबाईल फोन रेडमी स्वयं का
3. एक पर्स स्वयं का जिसके अन्दर अन्य कागजात
4. एक आई कार्ड दिल्ली पुलिस स्वयं का
5. एक फर्जी ड्राईविंग लाईसेन्स (विजय कुमार पुत्र रामबीर नि0 होडल पलवल  हरियाणा)
6. एक वर्दी दिल्ली पुलिस स्वयं की
7. एक रेनो क्विड कार रंग काला नं0 एचाआर-19-एम-4239

सोनू के पास से

1. नकद 50,000/- रूपये
2. एक मोबाईल फोन सेमसंग कम्पनी स्वयं का
3. एक पर्स जिसके अन्दर कागजात स्वयं का
5. अभियुक्त शिव कुमार उपरोक्त
6 एक पर्स जिसके अन्दर अन्य कागजात स्वयं का
2. एक मोबाईल फोन सेमसंग कम्पनी स्वयं का
3. एक मोबाईल फोन वीवो कम्पनी स्वयं का
4. एक मोबाईल फोन की-पेड आईटेल कम्पनी स्वयं का
5. एक मोबाईल फोन अर्पित पुत्र राज सिंह का

मुकेश के पास से –

1. एक मोबाईल फोन वीवो कम्पनी स्वयं का
2. दो मार्कशीट व एक जाति प्रमाण
अभियुक्त शिव कुमार के

अर्पित के पास से –

1. एक  वोटर कार्ड अभियुक्त शिव मुमार का
2. एक  ड्राईविंग लाईसेन्स अभियुक्त शिव मुमार का
3. दो  पासपोर्ट साईज अभियुक्त शिव मुमार का

अमन के पास से –

1. एक  पेन कार्ड नितिन पुत्र विजेन्द्र का

दिनेश चौधरी के पास से –

1. एक  वोटर कार्ड प्रवीन कुमार का
2. एक  आधार कार्ड प्रवीन कुमार का
3. एक  पासपोर्ट फोटो प्रवीन कुमार का