May 13, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बढ़ते कोरोना मामलों के साथ नोएडा और ग्रेटर नोएडा में हुई ऑक्सीजन की कमी, मरीजों और स्वास्थ्य विभाग पर आई मुसीबत

बढ़ते कोरोना मामलों के साथ अब गौतम बुद्ध नगर के अस्पतालों में एक और बड़ी समस्या सामने आने लगी है। जिले के अस्पतालों से ऑक्सीजन की संख्या कम होती जा रही है। हाल अब यह हो गया है कि अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। जिसकी वजह से जिले में इलाज करवा रहे सैकड़ों लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने के कारण लोगों को गंभीर हालत में वापस अपने घर जाना पड़ रहा है। हो सकता है कि आगे इससे भी ज्यादा कठिनाई सामने आए।

मंगलवार को जिले के अधिकतर कोविड-19 अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी देखने को मिली है। यहां तक कि नोएडा के सेक्टर 39 में स्थित जिला अस्पताल और कोविड-19 अस्पताल में भी ऑक्सीजन की कमी सामने देखने को मिली है। दूसरे अस्पतालों ने ऑक्सीजन की कमी होने पर मरीजों को दूसरे अस्पतालों में शिफ्ट करने के लिए इंतजाम किए। लेकिन दूसरे अस्पतालों में ऑक्सीजन ही नहीं है। ऐसे में मरीजों को गंभीर कठिनाइयों से गुजरना पड़ा है।

यह बातें सामने आ रही है कि मंगलवार को काफी मरीजों को ऑक्सीजन की जरूरत पड़ी थी। जिसके बाद मरीजों को एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया। लेकिन मरीजों को फिर भी ऑक्सीजन नहीं मिल पाई। ऐसे में लोगों का गुस्सा काफी ज्यादा बढ़ गया है। लोगों का कहना है कि अगर अस्पतालों के पास ऑक्सीजन नहीं है तो वह मरीजों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर क्यों भेज रहे हैं। अगर रास्ते में किसी कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो जाएगी तो जिम्मेदार कौन होगा। नोएडा और ग्रेटर नोएडा में काफी कोविड-19 अस्पताल हैं। लेकिन सभी का हाल बुरा हुआ पड़ा है।

ऐसे समय में स्वास्थ्य विभाग को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। नोएडा के सेक्टर 39 में स्थित कोविड-19 अस्पताल की तरफ से जानकारी दी गई कि ऑक्सीजन खत्म होने पर उन्होंने ऑक्सीजन कंपनी को फोन किया था। जिसके बावजूद भी ऑक्सीजन कंपनी ने अस्पताल में ऑक्सीजन नहीं भिजवाई। इसलिए यह परेशानी सामने आई है। मंगलवार को काफी घंटों तक ऑक्सीजन की आपूर्ति नही हो पाई है। अब यह देखना है कि जिला प्रशासन किस तरीके से ऑक्सीजन की आपूर्ति करेगा।

Translate »