December 2, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पंजाब के महाधिवक्ता अमर प्रीत सिंह ने दिया इस्तीफ़ा, नवजोत सिंह सिद्धू कर रहे थे नियुक्ति का विरोध

पंजाब के महाधिवक्ता अमर प्रीत सिंह देओल ने मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा नियुक्त किए जाने के ठीक एक महीने बाद सोमवार को अपने पद से इस्तीफ़ा दे दिया।

 

Amanpreet singh/twitter

 

बता दें कि पंजाब पार्टी के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू सहित कई कांग्रेस नेताओं ने देओल की नियुक्ति का विरोध किया था। वरिष्ठ अधिवक्ता अमर प्रीत सिंह ने दो आरोपी पुलिस पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी और आईजी परमराज सिंह उमरानंगल का प्रतिनिधित्व किया था, जिसमें 2015 में कोटकपूरा और बहबल कलां में बेअदबी की घटनाओं के बाद पुलिस फ़ायरिंग से संबंधित मामले शामिल थे।

दोनों मामले राजनीतिक रूप से संवेदनशील हैं, और कांग्रेस के चुनावी मेनिफ़ेस्टो में दोनों पर कार्यवाई करने की बात चुनाव के पहले के वादों में से एक थी।

समाचार एजेंसी एनडीटीवी के मुताबिक़ सिद्धू भी देओल और DGP को बदलने की मांग कर रहे थे।

समाचार एजेंसी पीटीआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पंजाब सरकार ने एजी के रूप में नियुक्ति के लिए दो अन्य वरिष्ठ अधिवक्ताओं के नामों पर विचार किया था, लेकिन मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कथित तौर पर देओल के नाम को मंज़ूरी दी थी।

नियुक्ति के बाद मीडिया से बात करते हुए देओल ने कहा था कि कांग्रेस आलाकमान ने उनके नाम को मंज़ूरी दे दी है। देओल ने यह भी कहा था कि वह राज्य के हितों की रक्षा के लिए दिल्ली से आने वालों की तुलना में उच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ताओं को तरजीह देंगे।

साइनी की ओर से पेश होने के सवाल पर वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा था कि फ़ाइलें वापस भेज दी गई हैं और अब उनका काम राज्य के हितों को देखना है।

Translate »