September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बदहवास भागते लोगों का देश बन गया है अफ़ग़ानिस्तान, तालिबान का समूचे मुल्क़ पर क़ब्ज़ा

लंबे समय से अफ़ग़ानिस्तान में तालिबान का आतंक अब क़ायम हो चुका है। इस बीच हज़ारों की संख्या में लोग काबुल छोड़कर दूसरे देश में पनाह लेने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

 

Reuters

 

समाचार एजेंसी एएफ़पी के सूत्रों के मुताबिक़, सोमवार की सुबह काबुल एयरपोर्ट पर हज़ारों के हुजूम के बीच हंगामा हो गया। इस हंगामे के चलते भीड़ को तितर-बितर करने के लिए अमेरिकी फ़ौज ने हवा में गोलियां चलाईं। एक चश्मदीद ने कहा कि उसे यह सब देखकर बहुत बुरा लग रहा है कि वे चेतावनी देने के लिए हवाई फ़ायर कर रहे हैं।

बता दें कि रविवार को काबुल पर क़ब्ज़ा करने के बाद समूचा अफ़ग़ानिस्तान पर अब तालिबान की हुक़ूमत हो गई है। इन बीच राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी पड़ोसी देश ताजिकिस्तान में शरण ले चुके हैं। वहीं तालिबान के हथियारबंद सदस्यों के राष्ट्रपति कार्यालय पर नियंत्रण स्थापित कर लेने की तस्वीरें भी सामने आईं।
अशरफ़ ग़नी की सरकार ने ये स्वीकार कर लिया है कि
20 साल लंबी जंग में तालिबान जीत गया है।

 

Reuters

 

इस दौरान हज़ारों की संख्या में सोमवार के दिन भी लोग काबुल से भागने की कोशिश में लगे हुए हैं। लोग बदहवास होकर एक-एक वाहनों पर 20-25 सवारियों के साथ सुरक्षित ठिकाने की तलाश करते दिख रहे हैं।

 

Reuters

 

इसी कारण काबुल हवाई अड्डे पर भी भारी भीड़ है और लोग एय़रपोर्ट अधिकारियों से वहां से उन्हें बाहर निकालने के लिए निवेदन कर रहे हैं। वहीं अमेरिका ने तालिबान से सड़कों, एयरपोर्ट और सीमावर्ती प्रवेश मार्गों से बाहर जा रहे लोगों को कोई नुकसान न पहुंचाने की चेतावनी दी है। अमेरिका की अगुवाई में 65 देशों ने इसको लेकर एक साझा बयान जारी किया है।

Translate »