May 13, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पीएम केयर्स फ़ण्ड के तहत अस्पतालों में लगेंगे ऑक्सीजन प्लांट

केंद्र सरकार ने गुरुवार को ये जानकारी दी कि पीएम केयर्स फ़ण्ड के तहत 100 नए अस्पतालों में उनका ख़ुद का ऑक्सीजन प्लांट लगाया जाएगा।

इसके तहत भारत सरकार ने 50 हज़ार मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन आयात करने का फ़ैसला लिया है। जल्द ही इसके लिए टेंडर जारी किया जाएगा। 
ख़बरों के मुताबिक़ अधिकार प्राप्त समूह ऑक्सीजन आपूर्ति का संकट झेल रहे 12 राज्यों की निगरानी करेगा। यह वे राज्य होंगे जहाँ कोरोना सबसे ज़्यादा फैल रहा है और इसीलिए ऑक्सीजन की ज़रूरत भी बढ़ रही है।
ये राज्य महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, गुजरात, यूपी, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक,केरल,तमिलनाडु,पंजाब,हरियाणा और राजस्थान हैं।
समाचार एजेंसी एनडीटीवी के अनुसार, “महाराष्ट्र में जरूरत के हिसाब से ऑक्सीजन का प्रोडक्शन नही है।मध्यप्रदेश के पास कोई उत्पादन की क्षमता ही नही है। गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान जैसे राज्यों में ऑक्सीजन प्रोडक्शन तो है लेकिन मामले बढ़ने के साथ इसकी डिमांड काफी बढ़ गयी है। ग़ौरतलब है कि महाराष्ट्र, यूपी, एमपी, गुजरात और कर्नाटक समेत करीब 10 राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ ऑक्सीजन की कमी भी अस्पतालों में महसूस की जा रही है।”
कोरोना के मामलों में बेहद तेज़ी से बढ़ोत्तरी आयी है जिस कारण स्वास्थ्य सेवाओं पर भी ख़ासा दबाव बढ़ रहा है। इसके मद्देनज़र केंद्र सरकार ने पहले ही स्वास्थ्य बजट में करीब डेढ़ गुना बढ़ोतरी की है।
कोरोना संक्रमण तेज़ी से पूरे देश को अपनी ज़द में लेता नज़र आ रहा है। सरकारी आँकड़ों की मानें तो पिछले 24 घंटे में कोरोना से 2 लाख 16 हज़ार 642 संक्रमित हुए और 1182 लोगों की संक्रमण से मौत हो गई। इस दौरान 1 लाख 17 हज़ार 825 लोग ठीक भी हुए। यह अबतक संक्रमितों का सबसे ज़्यादा मामला है।
कोरोना से होने वाली मौतें भयानक स्थिति की ओर इशारा कर रही हैं। मौतों का कुल आंकड़ा 1.75 लाख को पार कर चुका है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र, दिल्ली, यूपी, गुजरात, कर्नाटक समेत लगभग सभी राज्यों में नाइट कर्फ्यू, वीकेंड कर्फ्यू और साप्ताहिक लॉकडाउन जैसे कदम उठाए गए हैं, जिन्हें बिगड़ते हालात में समाधान की तरह देखा जा रहा है।
Translate »