October 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

प्रधानमंत्री मोदी ने दी कनाडा के समकक्ष को बधाई, कहा भारत आपके साथ काम करने के लिए तत्पर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कनाडा के अपने समकक्ष जस्टिन ट्रूडो को चुनाव में जीत के लिए बधाई दी और कहा कि वह भारत-कनाडा संबंधों को और मज़बूत करने के लिए तत्पर हैं।

 

 

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, “चुनावों में जीत पर प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो को बधाई! मैं भारत-कनाडा संबंधों को और मज़बूत करने के साथ-साथ वैश्विक और बहुपक्षीय मुद्दों पर हमारे सहयोग के लिए आपके साथ काम करना जारी रखने के लिए तत्पर हूं।”

बता दें कि जस्टिन ट्रुडो प्रधानमंत्री के बतौर अपने अपने तीसरे कार्यकाल के लिए तैयार हैं। उनकी लिबरल पार्टी ने एक बार फिर चुनावों में जीत हासिल की है जिसका अनुमान पहले से ही लगाया जा रहा था। हालांकि ट्रुडो की पार्टी इस बार फिर बहुमत बटोरने में नाकाम रही।

ट्रूडो, जो 2015 से सत्ता में हैं, छह साल से भी कम
समय में तीन आम चुनाव जीत चुके हैं। राज्य प्रसारक सीबीसी के अनुसार, ट्रूडो (49) ने क्यूबेक के पापिनौ में जीत हासिल की। एरिन ओ’टोल के नेतृत्व में कंजरवेटिव्स के मुख्य विपक्षी दल होने की बात भी कही जा रही है।

 

क्या रहे परिणाम?

लिबरल पार्टी के नेता ट्रूडो ने पिछले महीने COVID महामारी के बीच में ही चुनाव का आह्वान किया था, क्योंकि वे मान रहे थे कि जिस तरह से उन्होंने कोरोना के नियंत्रण पर काम किया है वह उन्हें बहुमत दिला सकता है। लेकिन इस परिणाम को देखकर लगता है कि वे दोबारा 2015 के चुनावों में पहुँच गए हैं जब उनकी पार्टी के उम्मीदवारों को 184 सीट हासिल हुए थे।

 

 

ग़ौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी को अपने कनाडाई समकक्ष को आश्वासन दिया था कि भारत कनाडा के COVID टीकाकरण कार्यक्रम का समर्थन करेगा। ट्रूडो ने पीएम मोदी को फ़ोन कर उनका समर्थन मांगा था।

इससे पहले दोनों देशों के रिश्तों में तब तनाव पैदा हो गया था जब ट्रुडो ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन पर चिंता व्यक्त की थी और उन्हें अपना समर्थन दिया था।

भारत के विदेश मंत्रालय (MEA) ने एक बयान में उनकी टिप्पणियों को “अनुचित” करार दिया। हालांकि बाद में, ट्रूडो ने अपना रुख बदल दिया और किसान नेताओं के साथ बातचीत करने के लिए भारत की सराहना की।

Translate »