November 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

G-20 शिखर सम्मेलन में बिना मास्क पहने पहुँचे मोदी, शिवसेना ने किया तीखा तंज़

शिवसेना ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जी -20 शिखर सम्मेलन के लिए रोम, इटली की यात्रा के दौरान मास्क न पहनकर अन्य राष्ट्राध्यक्षों से मुलाक़ात पर तंज़ किया।

 

 

 

पार्टी के मुखपत्र “सामना” में एक संपादकीय में कहा गया है कि मोदी ने अपनी विदेश यात्रा के दौरान मास्क नहीं पहना था, इसलिए देश में कोविड -19 के ख़िलाफ़ टीकाकरण की गति घट गई।

सामना में लिखा गया, ‘मोदी को छोड़कर सभी देशों के नेताओं ने G-20 समिट के दौरान मास्क पहना था। इस तरह घूम रहे मोदी अकेले थे। जब वह (अमेरिकी राष्ट्रपति) जो बाइडेन और फ्रांस के राष्ट्रपति (इमैनुएल मैक्रों) से मिले तो उन्होंने मास्क नहीं पहना था। इसकी बहुत आलोचना हुई है, लेकिन ‘भक्तों’ के लिए मोदी एक ‘सुपर पावर’ हैं। इसलिए वह कीटाणुओं और विषाणुओं से नहीं डरता।’

 

 

संपादकीय में कहा गया है कि मोदी ने दुनिया को बिना मास्क के जीना दिखाया है।

शिखर सम्मेलन से इतर मोदी और अन्य विश्व नेताओं ने रविवार को ट्रेवी फाउंटेन का दौरा किया। प्रतिनिधिमंडल ने फ़व्वारे में अपने कंधे पर एक सिक्का भी फेंका। ऐसा माना जाता है कि यदि आप फ़व्वारे के पानी में अपने कंधे पर एक सिक्का फेंकते हैं, तो आप निश्चित रूप से रोम लौट आएंगे।

 

PM Modi in G-20 Rome/twitter

 

इसपर तंज़ करते हुए शिवसेना के मुखपत्र में लिखा गया, ‘ट्रेवी फाउंटेन की तरह भारत में भी ऐसे कई फ़व्वारे और स्पॉट हैं। अगर यह अंधविश्वास है तो भी मोदी ने वहां जाकर पानी में एक सिक्का डाल दिया। उन्होंने क्या चाहा होगा?’

संपादकीय में कहा गया है कि यह सब अंधविश्वास है लेकिन भारत में ऐसे लोग हैं जो मोदी पर अंधविश्वास रखते हैं।

Translate »