September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी आचार्य विनोबा भावे को श्रद्धांजलि, कहा पीढ़ियों की प्रेरणा रहे हैं भावे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को अहिंसा के भारतीय अधिवक्ता आचार्य विनोबा भावे को उनकी जयंती पर याद किया और कहा कि भावे ने देश को आज़ादी मिलने के बाद महान गांधीवादी सिद्धांतों को आगे बढ़ाया।

 

 

प्रधानमंत्री ने भावे को ‘उत्कृष्ट विचारक’ बताया और कहा कि सामूहिक भावना पर उनके ज़ोर ने हमेशा पीढ़ियों को प्रेरित किया है।

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “महात्मा गांधी ने उन्हें एक ऐसे व्यक्ति के रूप में वर्णित किया जो पूरी तरह से छुआछूत के ख़िलाफ़ थे, भारत की स्वतंत्रता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता में अटूट और अहिंसा के साथ-साथ रचनात्मक कार्यों में दृढ़ विश्वास रखते थे। वह एक उत्कृष्ट विचारक थे।”

विनोबा भावे को भूदान आंदोलन के प्रवर्तक के रूप में जाना जाता है। इसके साथ ही वे कन्नड़, गुजराती, मराठी, हिंदी, अंग्रेज़ी, उर्दू और संस्कृत सहित विभिन्न भाषाओं में धाराप्रवाह थे।

अपने ट्वीट में आगे उन्होंने लिखा, “आचार्य विनोबा भावे ने भारत के स्वतंत्रता प्राप्त करने के बाद महान गांधीवादी सिद्धांतों को आगे बढ़ाया। उनके जन आंदोलनों का उद्देश्य ग़रीबों और दलितों के लिए जीवन की बेहतर गुणवत्ता सुनिश्चित करना था। सामूहिक भावना पर उनका ज़ोर हमेशा पीढ़ियों को प्रेरित करता रहेगा।”

Translate »