राजस्थान के करौली में स्थित सपोटरा में एक पुजारी की हत्या हुई है। दबंगों ने पुजारी के ऊपर पेट्रोल डाल आग लगाकर जिंदा जला दिया है। इस मामले के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल है। परिजन का कहना है कि वह तब तक पुजारी के शव को चिता के हवाले नहीं करेंगे जब तक उनको 50 लाख रुपए मुआवजा, परिवार में से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी और आरोपियों को सजा नहीं मिल जाती है। यह मामला पूरे राजस्थान में आग की तरह फैलता जा रहा है।

पुजारी के अंतिम संस्कार के लिए अड़ा पुलिस-प्रशासन, लेकिन जब तक मुआवजा और सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी, तब तक नहीं होगा अंतिम संस्कार
पुजारी के अंतिम संस्कार के लिए अड़ा पुलिस-प्रशासन, लेकिन जब तक मुआवजा और सरकारी नौकरी नहीं मिलेगी, तब तक नहीं होगा अंतिम संस्कार

मौके पर इस समय स्थानीय डीएम और एसपी मौजूद हैं। इस बारे में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से राज्यपाल कलराज मिश्र ने फोन पर बातचीत भी की है। इस घटना को लेकर पीड़ित परिवार में काफी रोष है।

वहीं अशोक गहलोत ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। पुलिस और प्रशासन लगातार पुजारी के परिजनों से शव का अंतिम संस्कार करने के लिए कह रहे हैं लेकिन परिजनों का कहना है कि जब तक उनको न्याय नहीं मिल जाएगा तब तक वह पुजारी का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे।

सपोटरा थाना इलाके के बूकना गांव में राधा गोपाल जी मंदिर की पूजा अर्चना करने वाले पुजारी बाबूलाल वैष्णव की गुरुवार को जयपुर के एसएमएस अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। आरोप है कि उनकी जमीन पर कुछ लोगों ने कब्जा करने की नीयत से पहले विवाद किया और बाद में उन्हें पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जला दिया।