September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा में दरोगा के घर में हुई हत्या के मामले में पुलिस ने दोस्त को किया गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा में सूरजपुर कोतवाली पुलिस ने 4 दिन पूर्व हुए एक मेडिकल स्टोर संचालक की हत्या के मामले में उसके एक दोस्त को गिरफ्तार किया है।

उसके पास से पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त हथियार भी बरामद किया है। यह हत्या रुपए के लेन-देन के मामले में हुई थी। अभी इस मामले में दो आरोपी फरार है। जिसकी पुलिस तलाश कर रही है।

एडिशनल डीसीपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि, थाना सूरजपुर क्षेत्र के कस्बा सूरजपुर में लोटस पार्क के नाम से एक सोसाइटी है। इस सोसायटी के एक फ्लैट में दरोगा रामचंद्र किराए पर रहते हैं। उनके साथ पवन उर्फ जस्सी नाम का युवक भी रहता था। दरोगा कहीं बाहर दबिश देने गए हुए थे। पवन उनके घर पर रुका हुआ था। पवन का भाई विनोद उसको फोन कर रहा था, लेकिन उसका फोन नहीं उठ रहा था। इस पर पवन का भाई विनोद फ्लैट पर पहुंचा तो उसने देखा कि उसके भाई की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

उन्होंने बताया कि, घटना की जांच कर रही पुलिस बुधवार को मृतक के दोस्त दीपू को गिरफ्तार किया है। पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला है कि, दीपू ने पुलिस को पूछताछ के दौरान बताया कि, वह मूलरूप से हापुड़ का रहने वाला है और फिलहाल सूरजपुर में ही रहता है। उसने बताया कि, पवन उर्फ जस्सी ने अपने दोस्त मोनू के भाई ऋषि को कुछ रुपए उधार दिए थे, लेकिन काफी बार मांगने के बाद भी वह उधारी की रकम वापस नहीं कर रहा था। घटना की रात सभी लोग शराब पी रहे थे। उसी दौरान उधारी के रुपए को लेकर पवन और मोनू के बीच विवाद हो गया।

दीपू ने बताया कि, विवाद इतना बढ़ गया कि मोनू ने दीपू यानी कि उसके और एक अन्य दोस्त कुलदीप के साथ मिलकर मेडिकल स्टोर संचालक पवन को गोली मार दी थी। पवन की हत्या करने के बाद सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस ने अभी तक दीपू को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी दो फरार आरोपी मोनू और कुलदीप की तलाश की जा रही है।

Translate »