April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

वैक्सीन की कमी को लेकर सियासत तेज़, दिल्ली में सिर्फ 4-5 दिन का स्टॉक।

देश में एक तरफ कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं वही कोरोना वैक्सीन की किल्लत को लेकर सियासत तेज़ हो गई है और केंद्र और राज्य सरकार के बीच जंग शुरू हो गई है।वैक्सीन की कमी की समस्या कई राज्यों से मिल रही है, दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि दिल्ली में सिर्फ 4-5 दिन का स्टॉक बचा है।

वहीं उत्तर प्रदेश के वाराणसी में वैक्सीन की कमी को लेकर ख़बर मिली है, वाराणसी में 68 वैक्सीन सेंटर हैं लेकिन वैक्सीन की कमी के चलते सिर्फ 25 सेन्टर ही खोले गए बाकी पर ताले लग गए हैं।

उधर महाराष्ट्र में बुधवार को वैक्सीन की कमी को लेकर ख़बर आयी थी, महाराष्ट्र के सतारा में कई लोगों को वैक्सीन न मिलने पर वापस लौटना पड़ा।

महाराष्ट्र राज्य स्वास्थ्य मंत्री ने बताया था कि सिर्फ 14 लाख डोज बची है और हमें 40 लाख डोज के ज़रूरत है जिससे रोज़ 5 लाख लोगों को वैक्सीन दे सके। इस बारे में स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन से बातचीत की है।

फडणवीस और संजय राउत में ज़ुबानी जंग

BJP नेता देवेंद्र फडणवीस ने कहा था वैक्सीन की कमी नहीं है, सरकार अपनी की खराब योजनाओं के चलते वैक्सीन लोगों तक नहीं पहुँच रही है।शिवसेना नेता संजय राउत ने पलटवार करते हुए कहा सरकार कोई नाकामी नहीं छिपा रही है, सरकार को नीचा दिखाने के लिए महाराष्ट्र को कम वैक्सीन दी जा रही है।

झारखंड स्वास्थ्य मंत्री ने केंद्र पर उठाए सवाल

झारखंड सरकार ने केंद्र पर सवाल उठाते हुए कहा कि केंद्र सरकार से हमने दस लाख वैक्सीन डोज़ मांगी थी पर अभी तक नहीं मिली है, हमारे यह एक दो दिन में वैक्सीन खत्म हो जाएगी। केंद्र सरकार हमारे साथ लगातार सौतेला व्यवहार कर रही है।

स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के अनुसार अब तक करीब 9 करोड़ लोगों को कोरोना की वैक्सीन लग चुकी है।

Translate »