October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

लखीमपुर में मारे गए किसानों के लिए प्रियंका गांधी ने की प्रार्थना, अंतिम अरदास में हुईं शामिल

लखीमपुर खीरी में जहां संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने मंगलवार को 3 अक्टूबर की हिंसा में मारे गए चार किसानों के लिए ‘अंतिम अरदास’ किया, वहां कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने प्रार्थना सभा में हिस्सा लिया।

 

Priyanka Gandhi/twitter

 

प्रियंका गांधी को चार किसानों की तस्वीरों के सामने हाथ जोड़कर और उनकी पार्टी द्वारा ट्वीट किए गए वीडियो में गुरु ग्रंथ साहब के साथ एक मंच के सामने झुकते हुए देखा गया।

 

‘किसी नेता को मंच साझा करने की इजाज़त नहीं’

प्रियंका गांधी का तिकुनिया दौरा तब हुआ जब भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के नेताओं ने कहा कि किसी भी राजनेता को चार किसानों के लिए अंतिम प्रार्थना के दौरान किसान नेताओं के साथ मंच साझा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने कहा था कि “किसी भी राजनीतिक नेता को मंच साझा करने की अनुमति नहीं दी जाएगी वहाँ केवल संयुक्ता किसान मोर्चा के नेता मौजूद होंगे।”

 

 

इससे पहले प्रियंका गांधी वाड्रा ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और दीपेंद्र हुड्डा के साथ लखीमपुर खीरी का दौरा किया था और 6 अक्टूबर को मृतक किसानों के परिवारों से मुलाक़ात भी की थी।

इसके अलावा राष्ट्रीय लोक दल के नेता जयंत चौधरी का भी लखीमपुर जाने का कार्यक्रम था लेकिन उन्हें बरेली में एयरपोर्ट से बाहर नहीं जाने दिया गया।

“अंतिम अरदास” कार्यक्रम के दौरान क़ानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए तिकुनिया और उसके आसपास सुरक्षा कड़ी कर दी गई है।

 

कैसी है सुरक्षा?

लखीमपुर खीरी पुलिस के अलावा प्रांतीय सशस्त्र बल (पीएसी), रैपिड एक्शन फ़ोर्स और सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के जवानों को तैनात किया गया है। सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी और समन्वय के लिए वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को भी तैनात किया गया है।

 

Kisan Ekta Morcha twitter

 

लखीमपुर खीरी में डेरा डाले हुए पुलिस महानिरीक्षक (लखनऊ रेंज) लक्ष्मी सिंह ने कहा, ‘हम तिकुनिया घटना में मारे गए लोगों के परिवार के सदस्यों और स्थानीय किसान नेताओं के संपर्क में हैं।’

उन्होंने आश्वासन दिया कि शांतिपूर्ण तरीके से अतिम अरदास होगी। क़ानून-व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त संख्या में स्थानीय पुलिस और पीएसी के जवानों को इलाके में तैनात किया गया है।

 

मामले की बाबत राष्ट्रपति से मिलेंगे राहुल गांधी

बता दें कि राहुल गांधी बुधवार को लखीमपुर खीरी कांड को लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाक़ात करेंगे। पार्टी ने 10 अक्टूबर को राष्ट्रपति भवन को पत्र लिखकर उनसे मिलने के लिए पार्टी के सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल के लिए राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगा था।

 

Kisan

 

प्रतिनिधिमंडल लखीमपुर खीरी घटना के संबंध में तथ्यों का विस्तृत ज्ञापन सामने रखेगा। राहुल गांधी के साथ प्रियंका गांधी वाड्रा, एके एंटनी, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल, गुलाम नबी आज़ाद और अधीर रंजन चौधरी भी शामिल होंगे।

Translate »