September 27, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

लोकतंत्र की हत्या हुई, सांसदों को पीटा गया’, मॉनसून सत्र के अकाल समाप्त किए जाने पर बोले राहुल गांधी

मॉनसून सत्र अपने निर्धारित समय से दो दिन पहले यानी बीते बुधवार को समाप्त कर दिया गया जिसके विरोध में राहुल गांधी और अन्य विपक्षी नेताओं ने संसद के बाहर प्रदर्शन किया।

 

 

समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक़ राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि सांसदों को सदन में बोलने नहीं दिया गया और लोकतंत्र की हत्या हुई है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि बुधवार को राज्यसभा में सांसदों को पीटा गया।

उन्होंने कहा, “राज्यसभा में पहली बार सांसदों की पिटाई की गई, बाहर से लोगों को बुलाकर और नीली वर्दी में डालकर सांसदों से मारपीट की गई।”
राहुल गांधी ने साथ ही कहा, “राज्यसभा के सभापति कहते हैं कि वो व्यथित हैं, ऐसा ही लोकसभा अध्यक्ष ने भी कहा है। पर ये उनका काम है कि सदन को चलने दिया जाए। वो अपना काम क्यों नहीं कर पा रहे?”

इस प्रदर्शन में मौजूद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि उन्हें बुधवार को सदन में ऐसा लगा जैसे वे पाकिस्तान की सीमा पर खड़े हैं। उन्होंने कहा, “हमने कल लोकतंत्र की हत्या होते देखी, राज्यसभा में कल जिस तरह से प्राइवेट लोगों ने मार्शल की ड्रेस में आकर हमारे सांसदों पर हमला करने की कोशिश की। ये मार्शल नहीं थे, संसद में मार्शल लॉ लगाया गया था।”

इस पूरे मामले में लग रहे आरोपों को केंद्रीय संसदीय मंत्री प्रह्लाद पटेल ने पूरी तरह ग़लत बताया है। उन्होंने कहा कि असल घटना की जाँच सीसीटीवी फ़ुटेज देखकर हो सकती है।

वहीं दूसरी ओर भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने विपक्ष पर हिंसा करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, “संसद के इतिहास में पहली बार हुआ है कि लॉबी में कांच का गेट तोड़ दिया गया जिससे एक सुरक्षाकर्मी भी हताहत हुई है। वो भी अस्पताल में है।”

Translate »