September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

बारिश ने खोली नोएडा और ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की पोल, तालाब में तब्दील हुआ गौतम बुद्ध नगर

दिल्ली एनसीआर में बीती रात को तेज बारिश हुई है। इस बारिश के दौरान नोएडा और ग्रेटर नोएडा समेत काफी में जलभराव हो गया है।

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ लोगों में रोष व्याप्त हो गया है। सोशल मीडिया पर लोग ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और नोएडा प्राधिकरण के अलावा अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के झूठे वादों को याद कर रहे हैं।

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भारी बारिश के बाद शहर की सड़कों, गली मोहल्लों, सेक्टरों और सोसाइटी में जलभराव देखने को मिल रहा है। हालत यह हो गई है कि, चारों तरफ पानी ही पानी दिखाई दे रहा है। कल यानी रविवार को रक्षाबंधन है। रक्षाबंधन के त्यौहार पर सभी लोग और बहने अपने भाई के घर जाने के लिए सड़कों पर जलभराव के बीच खड़ा होना मजबूरी हो गया है। शहर के सभी बस स्टैंड और अन्य स्थानों पर जलभराव हुआ पड़ा है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट के निवासियों ने सोशल मीडिया पर लिखते हुए कहा है कि, भारी बारिश के दौरान प्राधिकरण और जनप्रतिनिधि के झूठे वादे याद आ जाते हैं। लोगों का कहना है कि प्राधिकरण शहर को बर्बाद करना चाहता है। शहर में बारिश के कारण जहां सुनहरे मौसम का आनंद लेना चाहिए। उसके जगह लोगों को जलभराव की समस्या से जूझना पड़ रहा है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में काफी स्थानों पर सड़कों पर जलभराव है। लोग अपने वाहन को ले जाने से बच रहे हैं। क्योंकि जलभराव में गाड़ी ले जाने के बाद सीज हो जाने का खतरा होता है। लोगों का कहना है कि ऐसे समय में उनको जितनी दिक्कतें हो रही है, प्राधिकरण के अधिकारी बेखबर है। काफी कंपनियों और घरों में भी पानी भर गया है।

ग्रेटर नोएडा के काफी फैक्ट्री मालिक ने ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को पत्र लिखकर जीएसटी नंबर मांगा है। फैक्ट्री मालिकों का कहना है कि बारिश के कारण उनको काफी नुकसान हुआ है। फैक्ट्री में जलभराव हो जाता है, जिसकी वजह से काफी कीमती सामान खराब हो गया है ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को फैक्ट्री मालिक होने पत्र लिखकर जीएसटी नंबर मांगा है, जिसका बिल बनाकर वह ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण को सोपेंगे।

Translate »