December 2, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

‘सरकार के पास 26 नवंबर तक का समय है वरना…’ केंद्र सरकार को किसान नेता राकेश टिकैत का अल्टीमेटम

तीन कृषि क़ानूनों के विरोध में खड़े विशाल आंदोलन की अगुवाई करने वाले किसान नेता राकेश टिकैत ने सोमवार को चेतावनी दी कि केंद्र सरकार के पास 26 नवंबर तक का समय है, जिसके बाद किसान दिल्ली में विरोध स्थलों पर पहुंचेंगे और उन्हें और मज़बूत करेंगे।

 

Rakesh Tikait/twitter

 

राकेश टिकैत ने ट्वीट कर कहा, “केंद्र सरकार को 26 नवंबर तक का समय है, उसके बाद 27 नवंबर से किसान गांवों से ट्रैक्टरों से दिल्ली के चारों तरफ आंदोलन स्थलों पर बॉर्डर पर पहुंचेगा और पक्की किलेबंदी के साथ आंदोलन और आन्दोलन स्थल पर तंबूओं को मज़बूत करेगा।”

भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के नेता ने अपने ट्वीट में इस बात का ज़िक्र नहीं किया कि क्या केंद्र के लिए कृषि क़ानूनों को रद्द करने की समय सीमा 26 नवंबर है या अगले दौर की बातचीत के लिए किसानों को आमंत्रित करना है।

हालांकि, ये दिन राजधानी की सीमाओं पर कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ विरोध प्रदर्शन शुरू होने का एक साल पूरा करेगा।

टिकैत की यह ताज़ा चेतावनी उस बयान के ठीक एक दिन बाद आई है जब उन्होंने कहा था कि अगर प्रदर्शनकारियों को सीमाओं से जबरन हटाने का प्रयास किया गया, तो किसान देशभर के पुलिस स्टेशनों, साथ ही ज़िला मजिस्ट्रेट कार्यालयों का घेराव करेंगे।

Translate »