May 14, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सोनू सूद के बाद अब रवीना टंडन ने किया कोरोना काल में बोर्ड एग्ज़ाम का विरोध 

भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने आम जन-जीवन को बेहद प्रभावित किया है, जहाँ हर रोज़ एक लाख से ज़्यादा संक्रमण के मामले आ रहे हैं। ऐसे में सरकार भी लोगों को संक्रमण से बचाने के लिए कई क़दम उठा रही है। लेकिन इस बीच बोर्ड एग्ज़ाम देने वाले बच्चों के सामने सुरक्षित रहने की चुनौती है। ऐसे में सरकार के परीक्षा करवाने के फ़ैसले की लोग आलोचना कर रहे हैं।

बीते दिन एक्टर सोनू सूद ने परीक्षाओं को रद्द करने और छात्रों को आंतरिक मूल्यांकन पद्धति के आधार पर प्रमोट करने की माँग की थी जिसे छात्र-छात्राओं का ख़ूब समर्थन मिला। अब एक्ट्रेस रवीना टंडन ने भी परीक्षाओं को ना कराने की बात कही है।
उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अपने बोर्ड परीक्षा के लिए उपस्थित होने वाले सभी छात्रों के लिए ये वक्त बहुत ही तनावपूर्ण है। जब सभी बड़े लॉकडाउन मोड में हैं तो बच्चे परीक्षा देने के लिए बाहर जाये। बहुत बहादुर। जिन बच्चों के घरों में बुजुर्ग और माता-पिता को स्वास्थ्य संबंधी समस्या है। उन सदस्यों को भी वे बच्चे जोखिम में डाल देंगे।’
इसके पहले रवीना टंडन ने सोनू सूद के उस ट्वीट को रिट्वीट किया था जिसमें सोनू सूद ने लिखा, ‘मैं उन सभी छात्रों से समर्थन करने का अनुरोध करता हूँ, जो इस कठिन समय में ऑफलाइन बोर्ड परीक्षा में बैठने के लिए मजबूर हैं। एक दिन में 145 हज़ार तक बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों की संख्या चिंताजनक है। मुझे लगता है कि इतने सारे छात्रों के जीवन को जोखिम में डालने के बजाय, विद्यार्थियों को अगली कक्षा में प्रमोट करने के लिए आंतरिक मूल्यांकन पद्धति होनी चाहिए।’
न केवल उन्होंने विद्यार्थियों की सेहत को लेकर चिंता जताई बल्कि अन्य देशों से भारत के इस क़दम की तुलना भी की।
सोनू सूद ने आगे कई देशों का हवाला देते हुए कहा, ‘सऊदी अरब और मैक्सिको जैसे देशों में कोरोना के बहुत कम मामले होने के बावजूद भी शैक्षणिक संस्थानों ने परीक्षा रद्द कर दी हैं। लेकिन हमारे यहां केस बहुत ज्यादा हैं और हम फिर भी एग्जाम कराने की सोच रहे हैं, जो कि ठीक नहीं है। मुझे नहीं लगता कि ऑफलाइन परीक्षा के लिए ये सही वक्त है।’
बता दें कि कोरोना वायरस के रोज़ आते नए मामले, नया रिकॉर्ड भी बना रहे हैं। सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी किए गए पिछले 24 घंटे के आँकड़ों के मुताबिक़ देशभर में 1,68,912 संक्रमण के मामले सामने आए हैं, जो एक दिन में आने वाले सबसे ज़्यादा मामले हैं।
इन आँकड़ों के साथ ही देश में कोरोना संक्रमण के कुल मामले 1,35,27,717 हो गए हैं। इसके साथ ही पिछले24 घंटों में 904 मारीज़ों की मौत हुई है और भारत में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 1,70,179 हो गयी है।
Translate »