September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

स्वतंत्रता दिवस के मौक़े पर लाल क़िले पर ज़बरदस्त सुरक्षा, 40 हज़ार जवान और 9 एन्टी ड्रोन सिस्टम के साथ कल की तैयारी

स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले लाल किले की सुरक्षा चाक चौबंद कर दी गई है। इस मौक़े पर आतंकी हमले का ख़तरा हमेशा बना रहता है।

 

NBT

 

ख़ुफ़िया एजेंसियों को यह ख़बर मिली है कि लाल किले या उसके आसपास आतंकी संगठन हमले की योजना बना रहे हैं। ऐसे में सबसे ज़्यादा ख़तरा जैश ए मोहम्मद, लश्कर तैयबा और खालिस्तानी आतंकियों से बताया जा रहा है।

यह भी ख़बर है कि आतंकी पुलिस की वर्दी में भी आ सकते हैं इसलिए दिल्ली पुलिस शहर के सभी बस अड्डों में ज़बरदस्त चेकिंग कर रही है।

समाचार एजेंसी एनडीटीवी के मुताबिक़, “लाल किले की सुरक्षा को अभेद बनाया गया है। बड़े बड़े कंटेनर लगाकर लाल किले के मुख्य द्वार को बंद किया गया है। सुरक्षा के लिहाज़ से ऐसा पहली बार हुआ। 40 हज़ार जवान लाल किले की सुरक्षा में तैनात हैं। 9 एन्टी ड्रोन सिस्टम लगाए गए हैं। लाल किले के आसपास 30 जगहों पर एनएसजी के जवान तैनात हैं। 15 जगहों पर एनएसजी के स्नाइपर्स तैनात किए गए हैं।”

आगे बताया गया है कि “लाल किले के आसपास 9 किलोमीटर के दायरे में खास निगरानी की जा रही है। 350 रूफ़ टॉप तैनात रहेंगे। इनके पास सफ़ेद और लाल झंडा होगा। ख़तरा होने पर लाल झंडा दिखाएंगे। पतंगों को उड़ने से रोकने के लिए काइट्स कैचर की तैनाती की गई। एयर डिफेंस सिस्टम की भी तैनाती की गई है। करीब 300 से ज़्यादा सीसीटीवी कैमरों से निगरानी हो रही है।”

ख़बर है कि चूंकि आतंकी संगठन हमले कि फ़िराक में हैं, इसलिए दिल्ली के अभी बाज़ारों, साइबर कैफ़े और बाहर से आने वाले लोगों, विदेशी नागरिकों पर खास नज़र रखी जा रही है।

डीसीपी, रेलवे हरेंद्र कुमार सिंह ने कहा, “बस अड्डों की तरह रेलवे स्टेशनों पर भी भारी सुरक्षा इंतज़ाम हैं। दिल्ली पुलिस आरपीएफ के साथ मिलकर ट्रेनों से आने वाले मुसाफिरों पर खास नज़र बनाये हुए है। खबर है कि पुलिस की वर्दी में आतंकी आ सकते हैं इसलिए डॉग स्क्वाड, बम डिटेक्शन टीम की मदद से यात्रियों और उनके सामान की जांच की जा रही है।”

Translate »