April 10, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

ग्रेटर नोएडा में रिश्तेदारों ने मिलकर की कैब चालक की हत्या, पुलिस जांच में जुटी

ग्रेटर नोएडा के बीटा-2 थाना क्षेत्र में स्थित सेक्टर-36 में तीन लोगों ने मिलकर अपने रिश्तेदार को मौत के घाट उतार दिया है। सूचना मिलने पर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तीनों लोगों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार, गाजियाबाद के मसूरी थाना क्षेत्र में रहने वाला 42 साल का उधम सिंह कैब चलाता है। वह कैब चला कर अपने परिवार का पालन पोषण करता है। उधम सिंह अपने परिवार के साथ गाजियाबाद में ही रहता है।

उधम सिंह की पत्नी सुशीला ने पुलिस को बताया कि, सोमवार की शाम को उसके पास कॉल आई कि, वह अपने दोस्त सुभाष से मिलने ग्रेटर नोएडा जा रहा है। अपनी पत्नी को बताने के बाद वह अपने दोस्तों से मिलने ग्रेटर नोएडा आ गया। यहां पर वह अपने दोस्त सुभाष और उसके रिश्तेदारों से मिला था। सुभाष भी उधम सिंह का रिश्तेदार लगता था।

सुशीला ने पुलिस को बताया कि सोमवार की रात करीब 12:00 बजे उसके पास उधम सिंह की कॉल आई। उधम सिंह कॉल पर बोल रहा था कि वह लोग उसको मार देंगे। उसके बाद उसका मोबाइल बंद हो गया। इस बात की जानकारी सुशीला ने अपने देवर गणेश को कॉल करके पूरी जानकारी दी। जिसके बाद गणेश ने ग्रेटर नोएडा पुलिस को जानकारी दी।

पुलिस ने जानकारी मिलने के बाद पूरी टीम के साथ ग्रेटर नोएडा में सुभास के ठिकाने सेक्टर-36 में पहुंची। वहां जाकर पता चला कि उधम सिंह लापता है। उधम सिंह की गाड़ी भी छतिग्रस्त मिली थी। अगली सुबह सुशीला के देवर गणेश को ग्रेटर नोएडा में स्थित यथार्थ हॉस्पिटल से कॉल आई। जिसमें हॉस्पिटल से पुष्टि हुई थी उधम सिंह का शव उनके अस्पताल में है। उधम सिंह की मौत की खबर सुनने के बाद सुभाष वहां से फरार हो गया। पुलिस ने इस मामले में उधम सिंह की पत्नी सुशीला की शिकायत के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। सुशीला का आरोप है कि सुभाष ने उनके पति की हत्या की है।

Translate »