December 2, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

पत्नी के सामने RSS कार्यकर्ता की बेरहमी से दिनदहाड़े चाकू गोदकर की हत्या, केरल समेत पूरे देश में हिंदू संगठन में माहौल तनावपूर्ण।

 केरल के पलक्कड़ में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता की दिनदहाड़े हत्या के बाद पलक्कड़ सहित पूरे केरल में स्थिति तनावपूर्ण हो चुकी है। स्थानीय जिला बीजेपी की ओर से इसे राजनीति हत्या करार दिया गया है। बीजेपी ने इस हत्या का आरोप SDPI पर लगाया है।

Pic credit-zee news

आपको बता दें कि आज सुबह ठीक 9 बजे RSS कार्यकर्ता संजीव की हत्या पलक्कड़ में चाकू से गोदकर कर दी गई। केरल में यह पहली दफा नहीं है कि जब किसी RSS कार्यकर्ता की दिनदहाड़े हत्या की गई हो, इससे पहले भी अलाप्पुझा जिले में RSS कार्यकर्ता की हत्या का आरोप SDPI लगा था, तब हिंदू संगठन ने केरल से दिल्ली तक इसके विरोध में कड़ा प्रदर्शन किया था। जिसके बाद अलाप्पुझा जिले धारा 144 लगाने के साथ ही SDPI के कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया था।

 कैसे की गई हत्या RSS कार्यकर्ता संजीव की

राजनीतिक हत्या की यह वारदात मम्बरम मंडल के ऐलुपल्ली पर घटित हुई। पुलिस अधिकारियों के अनुसार 9 बजे जब संजीव अपनी पत्नी के साथ घर से निकलकर बाइक से जा रहे थे। तभी कार सवार चार आरोपियों ने उन्हें अचानक से आकर घेर लिया और पत्नी के सामने ही धारदार हथियार से हमला करके फरार हो गए। वहां मौजूद लोगों ने आनन-फानन में संजीव को फौरन नजदीक के जिला अस्पताल में ले गए। जहां उन्हें बचाया नहीं जा सका, डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। BJP के मुताबिक राजनीति रंजिश के कारण SDPI ने इस हत्या को अंजाम दिया है। वही वारदात की खबर सुनकर प्रदेश के हिंदू संगठन के साथ-साथ RSS के लोगों में भारी नाराजगी देखने को मिल रही है।

Pic credit-zee news

पुलिस के मुताबिक संजीव के खिलाफ के साथ SDPI के कार्यकर्ताओं से झड़प की कुछ मामले पुलिस स्टेशन में दर्ज भी हैं। इस बड़बड़ हत्या के तह तक पहुंचने के लिए जिले के एसपी ने नई टीम का गठन किया है। और जांच शुरू कर दी है ताकि इस हत्या के तह तक पहुंच कर इसका खुलासा हो सक।
मृतक संजीव के शरीर पर करीब 40 से 50 धारदार हथियार से हमले के निशान मिले हैं, इसी कारण 27 वर्षीय संजीव को मौत से भी बचाया न जा सका। वहीं बीजेपी कार्यकर्ताओं ने यह स्पष्ट किया है कि केरल में कई दशकों से हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं को इसी तरह बर्बरता के साथ मौत के घाट उतारे जा रहे हैं।

 

Translate »