आज सुबह The Millenium School, Sec 119 के पेरेंट्स ने स्कूल द्वारा बार-बार बच्चों को ऑनलाइन क्लासेज से हटाने के लिए प्रिंसिपल से दूसरी बार मुलाकात की।

स्कूल ने बच्चों को ऑनलाइन क्लासेज से हटाया, पेरेंट्स ने काली पट्टी बांध कर बनाई मानव श्रृंखला
स्कूल ने बच्चों को ऑनलाइन क्लासेज से हटाया, पेरेंट्स ने काली पट्टी बांध कर बनाई मानव श्रृंखला

पेरेंट्स ने पहले भी 28 sep 2020 को एक लिखित शिकायत पत्र दिया था। उस वक़्त प्रिंसीपल ने इसको तकनीकी ख़राबी बताते हुए जल्दी सुलझाने का आश्वासन दिया था। परंतु बार-बार ये दिक़्क़त आती रही। स्कूल स्टाफ व IT विभाग से कोई संतोष जनक जवाब नहीं मिलता था।

पेरेंट्स दुबारा प्रिंसीपल से मिले व लिखित में अपनी शिकायत दी। पेरेंट्स फीस मुद्दे को ईमेल, मैसेज, कॉल के जरिये सुलझाना चाहते हैं पर स्कूल मैनेजमेंट अपने रवैये पर अडिग है। पेरेंट्स मांग कर रहे हैं कि स्कूल आपदा में अपनी जमा पूँजी से अपना खर्चा उठाये।

पेरेंट्स का कहना है कि स्कूल सरकार के दिशा-निर्देशों का मजाक बना रहा है। उनका शिक्षा के अधिकार से कोई लेना-देना नहीं है बस माता-पिता और बच्चों के ऊपर अनैतिक तरीको से दबाव बना कर पूरी फीस वसूलना चाहते हैं।

कुछ पेरेंट्स को उनके बच्चों का स्कूल से नाम काटने के लिए चेतावनी पत्र भी जारी कर दिया गया है। स्कूल ने बहुत बच्चों के पिछले साल के रिपोर्ट कार्ड जारी नहीं किये जबकि पिछले साल की फीस दी जा चुकी है।

इसलिए कुछ अभिभावकों ने प्रशासन व सरकार से काली पट्टी बांधे मानव श्रृंखला बना कर मसले का हल निकालने के लिए गुहार लगाई।

NCR Parents Association के अध्यक्ष सुखपाल सिंह तूर ने कहा कि अगर तुरंत बच्चों के रिपोर्ट कार्ड, ऑनलाइन क्लासेज दुबारा शुरू करना व फीस माफी का समाधान न मिला तो DM व जनप्रतिनिधियों के सामने गुहार लगाई जाएगी।

उन्होंने आशा व्यक्त की कि प्रिंसिपल पेरेंट्स की बात सकारात्मक तरीके से स्कूल मैनेजमेंट के आगे रख कर इसका समाधान निकालेंगे।