April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

Special News : योगी आदित्यनाथ ने बताई जेवर एयरपोर्ट की सभी खासियत, पूरे प्रदेश में 17 एयरपोर्ट और एयरस्ट्रिप बनाने का है सपना, देखिए पूरी रिपोर्ट, मुख्यमंत्री ने क्या बोला

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जेवर के बनने वाले नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट की सारी खासियत प्रदेश और देश वासियों को बताई है। बताया गया कि, उत्तर प्रदेश बहुत ही जल्द पूरे विश्व में अपनी एक ऐसी ऐतिहासिक पहचान बनने जा रहा है। जिसको अभी तक देश का कोई भी देश नहीं बना पाया है। इसके साथ ही नोएडा और ग्रेटर नोएडा के लोगों को जेवर एयरपोर्ट से जोड़ने के लिए मेट्रो रेल और सड़कों का विकास किया जा रहा है। इस दौरान काफी अधिकारी मौके पर मौजूद रहे है। उन्होंने डीएम सुहास एलवाई को भी आदेश दिए है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जानकारी देते हुए बताया कि, उत्तर प्रदेश राज्सरकार के प्रयासों से आज प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी बढ़ी है। पहले जहां मात्र 02 एयरपोर्ट ही कार्यशील थे, अब 05 और नये एयरपोर्ट क्रियाशील हो गये हैं, जबकि बरेली का एयरपोर्ट 08 मार्च, 2021 से शुरु हो जाएगा। इसके अलावा 17 अन्य जनपदों में एयरपोर्ट और एयरस्ट्रिप के विकास का कार्य चल रहा है। प्रयागराज, गोरखपुर, सहारनपुर, मेरठ, श्रावस्ती, आजमगढ़ जैसे जनपदों से एयरकनेक्टिविटी की डिमाण्ड आ रही है। राज्य सरकार इस दिशा में कार्य कर रही है। कुशीनगर इण्टरनेशनल एयरपोर्ट का संचालन शीघ्र शुरु हो जाएगा। जनपद अयोध्या में भी जल्द ही इण्टरनेशनल एयरपोर्ट तैयार होगा। इस प्रकार उत्तर प्रदेश में शीघ्र ही 05 इण्टरनेशनल एयरपोर्ट होंगे। उन्होंने कहा कि अच्छी कनेक्टिविटी तेज विकास का कारक है।

मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि, जेवर एयरपोर्ट की स्थापना का मामला पिछले 30 वर्षों से लम्बित था। मार्च 2017 में वर्तमान सरकार द्वारा जेवर में एयरपोर्ट की स्थापना और विकास का निर्णय लिया गया। जिसे दिसम्बर 2017 में मंत्रिपरिषद द्वारा अनुमोदित किया गया था। जेवर एयरपोर्ट के विकास की दिशा में हम निरन्तर प्रगति कर रहे हैं। यह परियोजना पीपीपी मोड में विकसित की जा रही है। इस एयरपोर्ट से सम्बन्धित सभी कार्य पूरी पारदर्शिता के साथ किये जा रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय को नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट परियोजना की नियमित समीक्षा करने के भी निर्देश दिये है। पिछले वर्ष जब पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी से जूझ रही थी, तब भी राज्य सरकार ने प्रदेश की आर्थिक प्रगति पर अपना ध्यान बनाए रखा।

उन्होंने कहा कि, जेवर एयरपोर्ट के लिए ग्लोबल ई-टेण्डर प्रक्रिया के माध्यम से चयनित ज्यूरिक एयरपोर्ट इण्टरनेशनल एजी को सेलेक्टेड बिडर घोषित किया गया है। इस परियोजना के लिए वर्ष 2021-22 के बजट में 2,000 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गयी है। विगत 07 अक्टूबर 2020 को ज्यूरिक एयरपोर्ट इण्टरनेशनल एजी द्वारा गठित एसपीवी यमुना इण्टरनेशनल एयरपोर्ट तथा नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट के बीच कंसेशन एग्रीमेन्ट हस्ताक्षरित किया जा चुका है। इस एग्रीमेन्ट के 180 दिन के अन्दर आज यहां स्टेट सपोर्ट एग्रीमेन्ट हस्ताक्षरित होने से अब इस परियोजना का विकास तेजी से हो सकेगा। भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने जेवर एयरपोर्ट में हवाई पट्टियों की संख्या 02 से बढ़ाकर 06 करने का निर्णय लिया है।

इस एयरपोर्ट से बेहतर कनेक्टिविटी सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार नोएडा ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट हेतु 4 लेन रोड की कनेक्टिविटी की सुविधा प्रदान करेगी। वर्तमान सड़कों को अपग्रेड, माॅडर्नाइज और मेनटेन करेगी। साथ ही, इस एयरपोर्ट को मेट्रो रेल से जोड़ने का भरसक प्रयास करेगी। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर को नोएडा इण्टरनेशनल एयरपोर्ट हेतु अधिग्रहीत भूमि पर स्थित गांव के निवासियों का पुनस्र्थापन और पुनव्र्यवस्थापन का कार्य अप्रैल 2021 में पूरा करने के निर्देश दिये। साथ ही यमुना इण्टरनेशनल एयरपोर्ट को कन्सेशन एग्रीमेन्ट के अनुसार 90 प्रतिशत भूमि का कब्जा मार्च 2021 में ही देने के निर्देश दिये है।

Translate »