April 11, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

डीपीएस स्कूल द्वारा वार्षिक शुल्क की अचानक मांग से दुखी होकर अभिभावकों ने की विधायक पंकज सिंह से गुहार

डीपीएस स्कूल ने अचानक मार्च महीने मे वार्षिक शुल्क मांग कर दी  । जिसका अभिभावकों ने विरोध किया पर जब स्कूल ने उनकी मांग को अनसुना कर दिया तो आज अभिभावकों और पैरेंट्स  एसोसिएशन के महासचिव(operations)  सुखपाल सिंह तूर के साथ गौत्तम बुद्ध नगर के विधायक पंकज सिंह से मुलाकात की और उनसे इस मामले मे हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया ।

पंकज सिंह ने उनकी बातो को ध्यान से सुना और आश्वासन दिया की वो इस पर जो भी कर सकते है वो करेगे । साथ ही साथ उन्होने अभिभावकों की इस बात पर भी सहमति दी की फीस ना दे पाने पर स्कूल का रिजल्ट रोका जाना एक गलत बात है और ये नहीं होना चाहिए।

मनोज कटारिया (Founder GPWS) ने आग्रह किया कि 17 जून 2020 को यूपी शुल्क विनियमन अधिनियम (प्रति संलग्न) और पुनर्गठन शुल्क के अनुसार ऑनलाइन कक्षाओं के अनुसार सरकार द्वारा जारी विवेकाधीन शक्तियों का उपयोग किया जाए।

योगेश भगौर, (वाईस प्रेजिडेंट गौतम बुद्ध नगर पैरेंट्स वेलफेयर सोसाइटी )ने कहा कि परिणामों को रोकना बहुत ही अनुचित है । उन्होंने सरकार से “नो डिटेंशन पॉलिसी ’के तहत सभी छात्रों को पास करने का का आग्रह किया जैसा  दिल्ली सरकार ने पहले ही कर चुकी है। 

वहीं कपिल शर्मा (अध्यक्ष-गौतम बुद्ध नगर पैरेंट्स वेलफेयर सोसाइटी )ने कहा कि वे ऑनलाइन कक्षाओं के अनुसार शुल्क पुनर्गठन के मुद्दों को उठाने के लिए जल्द ही पंकज सिंह विधायक गौतमबुद्धनगर से मिलेंगे और ये भी अनुरोध करेंगे की जब तक COVID के केसेस शून्य ना हो जाए या टीकाकरण ना हो जाए स्कूलो को ना खोला जाए । 

Translate »