September 26, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

सत्ता के लिए तालिबान और हक्कानी नेटवर्क भिड़े, मुल्ला बिरादर ज़ख्मी

अफगानिस्तान में सत्ता को लेकर तालिबान और हक्कानी नेटवर्क में लड़ाई छिड़ गई है। अफगानिस्तान के अखबार ‘पंजशीर ऑब्जर्वर’ की रिपोर्ट के मुताबिक हक्कानी नेटवर्क की फायरिंग में तालिबान का को-फाउंडर मुल्ला बरादर घायल हो गया है।

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि बरादर का इस समय पाकिस्तान में इलाज चल रहा है। हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

पंजशीर में 600 तालिबानी मारे गए

पंजशीर में तालिबान और अहमद मसूद की अगुआई वाली रेजिस्टेंस फोर्स के बीच जंग जारी है। इस बीच रेजिस्टेंस फोर्स ने दावा किया है कि शनिवार को उसने 600 तालिबानियों को मार गिराया और 1000 तालिबानियों ने या तो सरेंडर कर दिया या उन्हें पकड़ लिया गया। वहीं उधर अल जजीरा की एक रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान का कहना है कि पंजशीर की राजधानी बाजारक और प्रांतीय गवर्नर के परिसर की ओर जाने वाली सड़कों पर लैंडमाइन होने की वजह से वे आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं।

तालिबान अगले हफ्ते नई सरकार का ऐलान करेगा

तालिबानी नेता शुक्रवार को ही सरकार बनाने की तैयारी में थे, लेकिन पंजशीर में विद्रोही गुट के साथ चल रही भीषण लड़ाई के बाद शनिवार को सरकार बनाने की बात कही गई। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने शनिवार को कहा कि हमारे नेता अंतरराष्ट्रीय समुदाय को एक स्थिर और व्यापक ब्लू प्रिंट देने की तैयारी कर रहे हैं इसलिए सरकार गठन पर अब अगले हफ्ते फैसला लिया जाएगा।

तालिबान को पालने वाले पाकिस्तान पर नजर रखनी होगी

अफगानिस्तान के मुद्दे पर भारत के विदेश सचिव हर्ष वर्धन श्रृंगला ने वॉशिंगटन में मीडिया से बातचीत में कहा कि अफगानिस्तान के हालात पर अमेरिका और भारत नजर बनाए हुए हैं। साथ ही कहा कि अफगानिस्तान के पड़ोसी पाकिस्तान ने तालिबान का समर्थन किया है और वह तालिबान को पालता रहा है। ऐसी कई बातें हैं जिनसे साबित होता है कि पाकिस्तान ने तालिबान की मदद की है, उन्हीं बातों को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान की भूमिका पर नजर रखनी होगी।

You may have missed

Translate »