September 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

तालिबान का नया ऐलान, पंजशीर घाटी “पूरी तरह क़ब्ज़े” में

सोमवार को तालिबान ने कहा कि काबुल के पास घाटी में उनके ख़िलाफ़ प्रतिरोध बल के साथ लड़ाई के कई दिनों के बाद, अब कट्टरपंथी इस्लामी समूह ने अफ़ग़ानिस्तान में आखिरी गढ़ पंजशीर पर भी “पूरी तरह से क़ब्ज़ा” कर लिया है।

 

 

तालिबान के मुख्य प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने एक बयान में कहा, “इस जीत के साथ, हमारा देश पूरी तरह से युद्ध के दलदल से बाहर निकल गया है।”

बता दें कि शुक्रवार रात को पंजशीर प्रांत में युद्ध तेज़ हो गया और नेशनल रेसिस्टेंस फ्रंट ने कहा कि उसके दो वरिष्ठ नेता – फ़हीम दशती, फ्रंट के प्रवक्ता और जनरल अब्दुल वुडोद ज़ारा – तालिबान के साथ लड़ाई के दौरान मारे गए। जनरल वुडोद पंजशीर प्रतिरोध के नेता अहमद मसूद के भतीजे थे।

रिपोर्टों में यह भी दावा किया गया है कि अफ़ग़ानिस्तान के कार्यवाहक राष्ट्रपति अमरुल्ला सालेह अपने घर पर हुए हेलीकॉप्टर हमले के बाद सुरक्षित स्थान पर चले गए हैं।

समा समाचार के अनुसार, अफ़ग़ान प्रतिरोध मोर्चे को उद्धृत करते हुए लिखा गया, “नेशनल रेसिस्टेंस ऑफ़ अफ़ग़ानिस्तान ने आज उत्पीड़न और आक्रामकता के ख़िलाफ़ प्रतिरोध में दो साथियों को खो दिया। श्री फ़हीम दश्ती, एनआरएफ़ के प्रवक्ता, और जनरल अब्दुल वुडोद ज़ारा शहीद हो गए। उनकी स्मृति शाश्वत हो।”

ग़ौरतलब रविवार को, पंजशीर में प्रतिरोध बलों के नेता अहमद मसूद ने कहा कि अगर तालिबान प्रांत छोड़ देता है तो वे लड़ाई बंद करने और बातचीत शुरू करने के लिए तैयार हैं।

Translate »