September 28, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

तालिबान ने की अपने अधिकारियों के नाम की घोषणा, जानें इसके पीछे क्या है मक़सद

दा अफ़ग़ानिस्तान बैंक (डीएबी) अफ़ग़ान केंद्रीय बैंक के कार्यवाहक प्रमुख की नियुक्ति के एक दिन बाद इस्लामी आतंकवादी समूह तालिबान ने अपने अधिकारियों के नाम की घोषणा की है जो काबुल के गवर्नर और मेयर की भूमिकाओं सहित विभिन्न सरकारी विभागों को संभालेंगे, अफ़ग़ानिस्तान समाचार एजेंसी पझवोक अफ़ग़ान न्यूज़ की रिपोर्ट।

 

Taliban spokesperson Suhail Shaheen/Reuters

 

नई नियुक्तियां क्या हैं?

1. सखउल्लाह को शिक्षा का कार्यवाहक प्रमुख नियुक्त किया गया है।

2. अब्दुल बाकी उच्च शिक्षा के कार्यवाहक प्रमुख होगा।

3. सदर इब्राहिम को कार्यवाहक आंतरिक मंत्री बनाया गया है।

4. गुल आगा को वित्त मंत्री नियुक्त किया गया है।

5. मुल्ला शिरीन काबुल का नया गवर्नर होगा।

6. हमदुल्ला नोमानी को काबुली महापौर नियुक्त किया गया है।

7. नजीबुल्लाह को अफ़ग़ानिस्तान का ख़ुफ़िया प्रमुख नियुक्त किया गया है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने सोमवार को ट्विटर पर हाजी मोहम्मद इदरीस को डीएबी के कार्यवाहक प्रमुख के रूप में नियुक्त करने की घोषणा की। पोस्ट में, मुजाहिद ने कहा कि, इदरीस ‘उभरते बैंकिंग मुद्दों और लोगों की समस्याओं’ को संबोधित करेंगे।

बता दें कि ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका ने तालिबान को 9.5 अरब डॉलर के अफ़ग़ान मौद्रिक भंडार तक पहुंचने से रोका है।
इदरीस की नियुक्ति ऐसे समय में हुई है जब अफ़ग़ानिस्तान गहरी आर्थिक उथल-पुथल में है। कथित तौर पर ATM में नकद नहीं है, अफ़ग़ानी मुद्रा में भारी गिरावट आई है और तेल और आटे जैसी आवश्यक वस्तुओं की कीमतें 35 फ़ीसद तक बढ़ गई हैं।

 

Reuters

 

इसके अलावा, इन नियुक्तियों को अमेरिकी सैनिकों के लिए अफ़ग़ानिस्तान से वापस जाने की समय सीमा के अंत के रूप में देखा जा रहा है। इधर हज़ारों विदेशी नागरिक और हताश अफ़ग़ान देश और तालिबान के शासन से बाहर निकलने के लिए अपनी बारी का इंतज़ार कर रहे हैं।

अमेरिकी सैनिकों के अपने देश वापस लौटने की तारीख़ बढ़ाने की बाबत तालिबान ने उसे चेतावनी भी दी है। प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा कि ऐसा हुआ तो अमेरिका की परिणाम भुगतने होंगे।

कतर की राजधानी दोहान में स्काई न्यूज़ से बात करते हुए शाहीन ने कहा कि उनका (अमेरिकी सैनिकों का) रुकना क़ब्ज़े के विस्तार की तरह देखा जाएगा।

हालांकि, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन आज G-7 नेताओं से काबुल हवाईअड्डे की मौजूदा स्थिति और अफ़ग़ानिस्तान के मुद्दे पर मिलने के लिए तैयार हैं, कयास लगाए जा रहे हैं कि वे वापसी की समय सीमा बढ़ाने पर विचार कर रहे हैं।

रविवार को, उन्होंने चेतावनी दी थी कि अफ़ग़ानिस्तान से निकलना ‘कठिन और दर्दनाक हो सकता है’।
इस बीच बाइडेन प्रशासन के एक अधिकारी ने सोमवार को समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि राष्ट्रपति अगले 24 घंटों के भीतर तय कर सकते हैं कि क्या अमेरिका पेंटागन को तैयारी के लिए समय देने की समय सीमा बढ़ाने जा रहा है।

 

Credit- REUTERS

 

ग़ौरतलब है कि G-7 की बैठक बाइडन, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन, जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी के बीच होगी।

बताते चलें कि सोमवार को, अमेरिकी सेना के जनरल हैंक टेलर ने संवाददाताओं से कहा कि पिछले 24 घंटों में काबुल हवाई अड्डे से लगभग 16 हज़ार लोगों को निकाला गया था, जबकि इसी अवधि के दौरान अमेरिकी सैन्य विमान 11 हज़ार से उड़ान भर रहे थे। उन्होंने कहा कि जुलाई से अब तक युद्धग्रस्त अफ़ग़ानिस्तान से 42 हज़ार लोगों को निकाला गया है, जिनमें से 37 हज़ार लोगों को 14 अगस्त से एयरलिफ़्ट किया गया है।

Translate »