October 24, 2021

MotherlandPost

Truth Always Wins!

तालिबान ने फिर दोहराया, विदेशी राजनयिकों की सुरक्षा होगी उसकी ज़िम्मेदारी

तालिबान ने शुक्रवार को अफ़ग़ानिस्तान के इस्लामी अमीरात में विदेशी राजनयिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता को एक बार फिर दोहराया।

 

 

खामा प्रेस न्यूज़ एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, अफ़ग़ानिस्तान के कार्यवाहक विदेश मंत्री आमिर खान मोतकी ने कहा कि विदेशी राजनयिकों और दूतों की सुरक्षा सुनिश्चित करना तालिबान की ज़िम्मेदारी है और उन्होंने कहा कि वे कभी भी नैतिक मंत्रालय(eth ministry) में आ सकते हैं।

अफ़ग़ानिस्तान के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार शाम काबुल स्थित राजनयिकों और दूतों की मेज़बानी की और प्रधानमंत्री मुल्ला अब्दुल ग़नी बरादर के पहले डिप्टी भी भोज में शामिल हुए। मेहमानों को संबोधित कर रहे कार्यवाहक विदेश मंत्री ने कहा कि वे चाहते हैं कि देश के अंदर सुशासन हो और उनके साथ मैत्रीपूर्ण संबंध हों।

मोतकी ने कहा, “हम न केवल अमेरिका के साथ बल्कि अपने पड़ोसियों, इस्लामी दुनिया, खाड़ी देशों, क्षेत्रीय और यूरोपीय देशों के साथ साझा हितों के आधार पर सकारात्मकता चाहते हैं।”

खामा प्रेस ने बताया कि वह दुनिया की सभी जायज़ मांगों का सम्मान करता है और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से भी यही चाहता है। हालांकि अपनी प्रतिबद्धताओं के बावजूद तालिबान इसका उल्टा ही कर रहा है।

तालिबान द्वारा अफ़ग़ानिस्तान में आम माफ़ी की घोषणा के बावजूद, देश में अल्पसंख्यकों और लोकतांत्रिक रूप से चुनी गई अफ़ग़ान सरकार के लिए काम करने वाले लोगों के ख़िलाफ़ तेज़ी से बढ़ती हिंसा देखी जा सकती है।

तालिबान देश में महिला पत्रकारों और कार्यकर्ताओं की भी तलाश कर रहा है। इसके अलावा, अंतर्राष्ट्रीय समुदायों ने यह साफ़ कर दिया है उनका तालिबान के प्रति रवैया पूरी तरह इस बात पर निर्भर करता है कि उसकी आगे की नीति क्या होगी।

Translate »